स्थगित यात्रा के बीच आज खुलेंगे यमुनोत्री धाम के कपाट

Spread the love

उत्तरकाशी। हिमालय के चारधाम की यात्रा भले ही फिलहाल स्थगित रखी गई हो, लेकिन कपाट खोलने की तैयारियां शुरू हो गई है। बीते वर्ष के तरह इस बार भी श्रद्घालुओं की मौजूद्गी के बिना ही चारों धाम के कपाट खुलेंगे। सबसे पहले अक्षय तृतीया पर्व पर शुक्रवार दोपहर 12़15 बजे यमुनोत्री धाम के कपाट खोले जाएंगे। इससे पहले, सुबह 9़15 बजे देवी यमुना की उत्सव डोली अपने शीतकालीन गद्दीस्थल खरसाली (खुशीमठ) से यमुनोत्री के लिए रवाना होगी।
यमुनोत्री मंदिर समिति के सचिव सुरेश उनियाल ने बताया कि यमुनोत्री धाम में कपाट खोलने की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मंदिर को फूल मालाओं से सजाया गया है। कपाट खोलने के मौके पर और यमुना की उत्सव डोली यात्रा में सिर्फ 25 तीर्थ पुरोहित व बाजगी ही शामिल होंगे। यह निर्णय बढ़ते कोरोना संक्रमण के मद्देनजर लिया गया है। बताया कि खरसाली में देवी यमुना की उत्सव डोली रवाना होने की प्रक्रिया सुबह आठ बजे शुरू होगी। यमुना मंदिर से डोली शनिदेव के मंदिर में जाएगी और फिर शनिदेव की ही अगुआई में यमुनोत्री के लिए प्रस्थान करेगी।
गंगोत्री धाम के कपाट 15 मई सुबह 7़30 बजे खोले जाएंगे। इससे पूर्व, शुक्रवार सुबह 11़45 बजे मां गंगा की उत्सव डोली अपने शीतकालीन प्रवास स्थल मुखवा (मुखीमठ) से पहले पड़ाव स्थल भैरवघाटी के लिए रवाना होगी। यहां रात्रि विश्राम के बाद 15 मई सुबह पांच बजे डोली गंगोत्री के लिए प्रस्थान करेगी और ठीक 7़30 बजे अक्षय तृतीया की उदय बेला पर मंदिर के कपाट खोल दिए जाएंगे। गंगोत्री मंदिर समिति के अध्यक्ष सुरेश सेमवाल ने बताया कि प्रशासन को 21 व्यक्तियों की सूची दी गई है, जिनमें तीर्थ पुरोहित और बाजगी शामिल हैं। ये सभी उत्सव डोली यात्रा में शामिल होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!