22 अलग -अलग स्थानों पर दूसरे चरण का पूर्वाभ्यास 12 को

Spread the love

गोपेश्वर। कोविड वैक्सीनेशन को लेकर जिले में 12 जनवरी को 22 अलग -अलग स्थानों पर दूसरे चरण का ड्राई रन(पूर्वाभ्यास) किया जाएगा। इससे पूर्व 8 जनवरी को जिला अस्पताल सहित जिले के सभी 10 स्वास्थ्य केन्द्रों पर पहला ड्राई रन पूरी तरह सफल रहा।
यह जानकारी देते हुए जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने बताया कि दूसरे चरण का अभ्यास मंगलवार को 12 अन्य केन्द्रों सहित 22 केन्द्रों में किया जाएगा जिसमें कोल्डचेन की व्यवस्थाओं, कोल्डचेन प्वाइंट से बूथ तक वैक्सीन पहुॅचाने, टीकाकरण, निगरानी कक्ष, प्रतीक्षा कक्ष की व्यवस्थाओं को परखा जायेगा। कोविड वैक्सीनेशन पूर्वाभ्यास के लिए शासन की गाइड लाइन के अनुसार जिला प्रशासन ने जोनल मजिस्ट्रेट, सेक्टर मजिस्टेऊट, पर्यवेक्षक तथा हेल्थ वर्कस की पर्याप्त संख्या में तैनाती करते हुए वैक्सीनेशन की पूरी व्यवस्था की गई है।
जिला चिकित्सालय गोपेश्वर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चमोली तथा उपजिला चिकित्सालय कर्णप्रयाग में आनलाईन विडियो कान्फ्रैंस के द्वारा निगरानी से टीकाकरण सत्र को परखा जायेगा। इस के लिए जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग ने टीकाकरण की पूरी तैयारी कर दी है। टीकाकरण के पहले चरण मे कुल 3699 हेल्थ वर्करों के टीकाकरण का लक्ष्य है। जनपद के इन 22 केन्द्रों में 3579 सरकारी तथा 120 निजी अस्पतालों के हेल्थ वर्करो का डाटा तैयार कर लिया गया है। प्रत्येक टीकाकरण केन्द्र मे निम्न चरण के अनुसार टीकाकरण किया जायेगा, जिसमें निम्न तैनात ऑफिसरो की जिम्मेदारी होगी:-
वैक्सीनेशन ऑफिसर का कार्य प्रतीक्षा कक्ष मे आने वाले लाभार्थियो का फोटो युक्त पहचान पत्र की जाँच कर के पंजीकरण करने का कार्य किया जायेगा।
वैक्सीनेशन ऑफिसर का कार्य कोविन सिस्टम के लिए फोटो युक्त दस्तावेजो तथा लाभार्थियों की पहचान कर उनका का सत्यापन करना।
वैक्सीनेशन ऑफिसर का कार्य निरीक्षण कक्ष मे टीकाकरण के बाद लाभार्थी को 30 मिनट मे निगरानी के दौरान होने वाले प्रतिकूल प्रभाव के लक्षण दिखायी देने, भीड प्रबंधन हेतु जिम्मेदार होगे, तथा अपंजीकृत लाभार्थियों का सामाधान कराना।
वैक्सीनेटर ऑफिसर वैक्सीनेटर ऑफिसर की जिम्मेदारी है कि लाभार्थियो का टीकाकरण कर के उनके दस्तावेजो का रिकॉड रखते हुए आगे रिर्पोट करना और लाभार्थी को कोविड -19 टीकाकरण का मुख्य संदेश बताना।
पर्यवेक्षक की जिम्मेदारी होगी कि वो 3 से 5 सीजन साइट का पर्यवेक्षण करना। वेक्सीन तथा सभी सामाग्री की उपलब्धता को सुनिश्चित करना। समय पर डाटा को तैयार करके रिर्पोटिग करना।
टीकाकरण के प्रति जागरूकता फैलाने हेतु टीकाकरण से सम्बन्धित भ्रातिंया तथा अफवाओं से निपटने के लिए समाज के सम्भ्रॉन्त व्यक्तियो धर्मगुरूओं शिक्षको, ग्राम प्रधान, ऑगनवाडी, एवं आशाओं के द्वारा अफवाओं को फैलने से रोकने हेतु जनजागरूकता की जायेगी। इसके अतिरिक्त टीकाकरण की भ्रातियों को दूर करने के लिए समाचार पत्र, लोकल केबल नेटवर्क बुद्विजीवियों एवं गणमान्य व्यक्तियों के संदेश एवं बैठको का आयोजन किया जायेगा।
टीकाकरण से प्रजनन क्षमता पर असर पड़ने की अफवाह इन्टरनेट की उपज है किसी भी टीके के परीक्षण में ऐसा साक्ष्य नही मिलता है की यह टीका प्रजनन क्षमता पर असर पडे़।
कोविड-19 टीकारण अभियान-
कोविड-19 टीके के 02 डोज प्रदान किये जायेंगे पहली डोज के उपरान्त 04 सप्ताह (28 दिन) के बाद दूसरी डोज दी जायेगी। जिसकी जानकारी लाभार्थियो को मोबाईल फोन पर एस0एम0एस0 द्वारा प्रदान की जायेगी।
यह टीका सुरक्षा के सभी मानको को पूर्ण करने के बाद ही लगाया जा रहा है।
प्रथम चरण में सभी स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण किया जायेगा। इसके बाद फ्रन्टलाईन वर्कर एंव उसके उपरान्त 60 साल के ऊपर के आयु के व्यक्तियों को प्रदान किया जायेगा। टीकारण से 24 घण्टे से पूर्व किसी भी प्रकार का नशा ना किया जाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!