अब मुख्यमंत्री सचिवालय तीन दिन के लिए बंद

Spread the love

संवाददाता, देहरादून। मंत्री सतपाल महाराज के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद सोमवार को सीएम सचिवालय तीन दिन के लिए बंद कर दिया गया। सचिवालय में महाराज से जुड़े सभी अनुभाग बंद कर दिए गए।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ऐहतियात के तौर पर तीन दिन तक और सेल्फ होम क्वारंटाइन रहेंगे। मंत्री हरक सिंह रावत, मदन कौशिक और सुबोध उनियाल भी सेल्फ होम क्वारंटाइन हो गए हैं। हालांकि प्रशासन ने कहा है कि लो रिस्क के कारण उनका क्वारंटाइन होना जरूरी नहीं है। पिछली कैबिनेट की बैठक में मौजूद रहे सीनियर अफसर भी सोमवार को सचिवालय नहीं आए।
मंत्री महाराज से जुड़े सिंचाई, पर्यटन अनुभाग अगले तीन दिन तक बंद रहेंगे। सिंचाई, पर्यटन, लघु सिंचाई अनुभाग के कर्मचारियों को सरकार ने तीन दिन ऑफिस न आने को कहा है।
पूरे सचिवालय परिसर के साथ ही सीएम कार्यालय, कैबिनेट कक्ष, आगुंतक कक्ष, अफसरों, निजी सचिव, ओएसडी व स्टाफ के कक्षों को सेनेटाइज किया गया। सचिवालय प्रशासन की तरफ से सीएम सचिवालय को तीन दिन के लिए मौखिक रूप से बंद करने को कहा है।
पांच अफसर सेल्फ होम क्वारंटाइन:
कैबिनेट बैठक में गोपन के चार अफसर एक समीक्षा अधिकारी मौजूद थे। इनमें संयुक्त सचिव ओमकार सिंह, उप सचिव प्रकाश जोशी, अनुसचिव अजित सिंह, सेक्शन अफसर एसपी भट्ट व समीक्षा अधिकारी जगदीश भी सेल्फ होम क्वारंटाइन पर चले गए हैं।
हरक, सुबोध और कौशिक भी सेल्फ होम क्वारंटाइन
कैबिनेट मंत्री डा. हरक सिंह रावत, सुबोध उनियाल और मदन कौशिक भी सेल्फ होम क्वारंटाइन पर चले गए हैं। हरक सिंह, तीन दिन और अपने डिफेंस कालोनी आवास में क्वारंटाइन पर रहेंगे। सुबोध उनियाल ने बताया कि वे यमुना कालोनी स्थित आवास में सेल्फ होम क्वारंटाइन पर हैं।
सचिवालय को एक हफ्ते बंद करने पर अड़ा संघ
उत्तराखंड सचिवालय संघ, सचिवालय को एक हफ्ते बंद करने पर अड़ गया है। संघ ने इसे लेकर एसीएस ओमप्रकाश व सचिव बीएस मनराल से मुलाकात भी की।
संघ अध्यक्ष दीपक जोशी ने बताया कि, फाइलों का मूवमेंट कैबिनेट बैठक में भी रहा। महाराज का ड्राइवर अन्य कर्मचारियों के संपर्क में भी रहा। ऐसे में सचिवालय को बंद कराया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!