बगैर दर्शकों के खेलने पर मुझे  पहली बार  इंग्लैंड में भीड़ ने गाली नहीं दी: वार्नर

Spread the love

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलियाई ओपनर डेविड वार्नर ने इंग्लैंड में कोरोना के कारण बगैर दर्शकों के मैच खेलने पर मजाकिया अंदाज में अलग ही जवाब दिया। उन्होंने कहा कि मुझे इसमें कोई अजीब नहीं लगा। वार्नर ने कहा कि पहली बार मुझे इंग्लैंड में भीड़ ने गाली नहीं दी। यह मेरे लिए सबसे अच्छा रहा है।
दरअसल, वार्नर पिछले साल वनडे वल्र्ड कप खेलने के लिए इंग्लैंड आए थे। तब उन्हें दक्षिण अफ्रीका में किए गए बॉल टेम्परिंग (गेंद से छेड़छाड़) मामले को लेकर दर्शकों ने जमकर मजाक उड़ाया था और ताने मारे थे। ऐसा ही बर्ताव वल्र्ड कप के बाद एशेज सीरीज के दौरान भी किया गया था।
ऑस्ट्रेलिया ने 174 दिन बाद इंटरनेशनल मैच खेला
हालांकि, इस बार ऑस्ट्रेलिया टीम इंग्लैंड दौरे पर 4 सितंबर से 3 टी-20 और 3 वनडे की सीरीज खेलने के लिए आई है। पहले टी-20 में इंग्लैंड ने शुक्रवार को 2 रन से जीत दर्ज की। यह मैच कोरोना के कारण साउथैंप्टन में बगैर दर्शकों के खेला गया। ऑस्ट्रेलिया का यह 174 दिन बाद पहला इंटरनेशनल मैच था।
बिना दर्शकों के मैच खेलना थोड़ा अजीब था
मैच के बाद वार्नर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ”यह पहली बार है कि मैं इंग्लैंड में हूं और मुझे किसी ने गाली नहीं दी। यह काफी अच्छा था।” बिना दर्शकों के मैच खेलना आपको पसंद आया? इस सवाल पर वार्नर ने कहा, ”दर्शकों के नजरिए से बिल्कुल नहीं। यह थोड़ा अजीब था। इंग्लैंड के दिए 162 रन के टारगेट का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम को एक समय 35 बॉल पर 39 रन चाहिए थे। तब टीम के पास 9 विकेट मौजूद थे। इसके बावजूद ऑस्ट्रेलिया मैच नहीं जीत सकी। वार्नर ने कहा, ”हम इस हार पर कोई बहाने नहीं बना सकते। मेरा मानना है कि इंग्लैंड ने शानदार खेल दिखाते हुए हमें पूरी तरह चित किया है। हम लाइन को क्रॉस नहीं कर सके। वार्नर ने इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 में 47 बॉल पर 58 रन की पारी खेली थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!