बीएसएफ का जवान बताकर बिचौलियों ने करा दी दूसरे युवक की दूसरी शादी

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

काशीपुर। पिता ने पुत्री के ससुराल वालों व बिचौलियों पर बीएसएफ का जवान बताकर दूसरी शादी कराने व दहेज उत्पीड़न का आरोप लगाया है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आईटीआई थाना क्षेत्र के गांव अहरपुरा निवासी सुशील कुमार पुत्र स्व़ प्रतापसिंह ने पुलिस को तहरीर सौंपी। कहा कि चार माह पूर्व बुद्घराज पुत्र सुखराम निवासी ग्राम गोपीवाला, ठाकुरद्वारा जिला मुरादाबाद व सुंदर लाल पुत्र विधाराम निवासी ग्राम बरखेड़ा पांडेय यूपी के सलेमपुर थाना ठाकुरद्वारा निवासी दीपक कुमार पुत्र विरेंद्र सिंह से बेटी का रिश्ता कराने उसके घर आए। उन्होंने कहा कि लड़का बीएसएफ में नौकरी करता है। दीपक के बीएसएफ के फोटो दिखाए। फोटो को देखकर उसने बेटी का रिश्ता बुद्घराम व सुन्दरलाल के कहने पर दीपक कुमार के साथ तय कर दिया। पांच दिसंबर 2021 को उसने उपहार स्वरूप लग्न में 10 लाख रुपये नगद व 10 तोला सोने के जेवरात सास व ननद को दिए। उसकी पुत्री की शादी 6 दिसंबर 2021 को एक पैलेस में महुआखेड़ागंज में हिन्दू रीति रिवाज से दीपक के साथ संपन्न हुई। शादी के कुछ दिन तो उसकी पुत्री सुमन को सास उर्मेश, ननद नीरज, देवर कुलदीप, ससुराल के अन्य लोग लड़के के चाचा चाची, मामा आदि ने सही रखा। फिर धीरे धीरे पुत्री की सास, पति दीपक कुमार जान से मारने की नियत से तमंचा निकालकर उसकी कनपटी पर रखता और दहेज में कार की मांग करता। उसकी पुत्री अपनी सास, ननद और देवर से अपने पति की शिकायत करती तो वह लोग भी उसकी पुत्री को कम दहेज लाने का ताना देकर घर से निकालने की धमकी देते हैं। शादी के लगभग एक माह बाद उसकी पुत्री सुमन को पता चला कि दीपक ने 30 नवंबर 2020 को यूपी के कल्याणपुर, कानपुर निवासी निकिता (नेहा) पुत्री विश्वनाथ सिंह के साथ शादी कर रखी है। उसकी पुत्री सुमन ने अपने पति से इस बारे में बात की तो उसे 13 फरवरी 2022 को मारपीट कर घर से निकाल दिया। उसकी पुत्री ने बताया कि दीपक कुमार बीएसएफ में कोई नौकरी नहीं करता। वह व उसके माता-पिता और भाई, बहन, दीपक कुमार के बीएसएफ के फर्जी फोटो दिखाकर पहले भी शादी करवा चुके हैं। तहरीर के आधार पर पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!