केंद्र सरकार ने दिल्ली के आरएसएस मुख्यालय की सुरक्षा बढ़ाई, सीआईएसएफ के सशस्त्र जवान रहेंगे मुस्तैद

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

नई दिल्घ्ली, एजेंसी। केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यालय को सशस्त्र सीआईएसएफ बलों की सुरक्षा मुहैया कराई है। आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को बताया कि मध्य दिल्ली के झंडेवालान में स्थित आरएसएस कार्यालय श्केशव कुंजश् और उदासीन आश्रम के पास स्थित र्केप कार्यालय को केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल यानी सीआईएसएफ की सुरक्षा कवर उपलब्ध कराई जाएगी। केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी परामर्श के आधार पर पहली सितंबर से सीआइएसएफ के जवान इन कार्यालयों की सुरक्षा में मुस्तैद नजर आएंगे।
रिपोर्ट के मुताबिक बल के जवान दो भवन परिसरों के प्रवेश और निकास को नियंत्रित करेंगे। परिसर को सुरक्षित करने के लिए गार्डों को तैनात किया जाएगा। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय खुफिया एजेंसियों ने दिल्ली स्थित आरएसएस कार्यालयों की सुरक्षा को लेकर गोपनीय इनपुट केंद्रीय गृह मंत्रालय को दिए थे। इन्घ्हीं इनपुट के आधार पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आरएसएस के परिसरों की सुरक्षा के लिए ब्प्ैथ् कवर को मंजूरी दी है।
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ यानी त्ैै को केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा का वैचारिक स्रोत माना जाता है। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत (त्ैै बीपमिडवींद ठींहूंज) को पहले से ही सीआइएसएफ की श्जेड प्लसश् की वीआईपी सुरक्षा मुहैया कराई गई है। सीआईएसएफ इसके हिस्से के रूप में आरएसएस के नागपुर कार्यालय को भी सुरक्षा कवर मुहैया कराता है।
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि चूंकि आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत दिल्ली कार्यालयों से भी काम करते हैं। श्केशव कुंजश् का री-डेवलपमेंट (पुनर्विकास) भी पूरा होने वाला है, इसलिए सुरक्षा एजेंसियों ने त्ैै कार्यालय को सीआईएसएफ का कवर मुहैया कराने का फैसला लिया। तय मानदंड के अनुसार, केंद्रीय गृह मंत्रालय आतंकी हमले के खतरे को लेकर केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों की आकलन रिपोर्ट की समीक्षा के बाद किसी भी व्यक्ति या कार्यालय को केंद्रीय सुरक्षा कवर मुहैया कराता है। उक्घ्त फैसले की वजह भी विभिन्न खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट बताई जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!