उत्तराखंड में चारधाम और हेमकुंड साहिब यात्रा शुरू, पहले दिन स्घ्थानीय श्रद्घालुओं ने किए दर्शन

Spread the love

देहरादून। शनिवार से चारधाम और हेमकुंड साहिब की यात्रा शुरू हो गई। हालांकि, पहले दिन सभी धामों में ज्घ्यादातर स्घ्थानीय श्रद्घालु पहुंच रहे हैं। वीकेंड पर बाहर से आए कुछ श्रद्घालुओं ने भी इस ओर रुख किया। अभी तक केदारनाथ के लिए गौरीकुंड से 342 श्रद्घालु रवाना हो चुके हैं।
हेमकुंड यात्रा के लिए 100 श्रद्घालु पहुंचे हैं। राज्घ्य सरकार ने चारों धामों में सीमित संख्घ्या में श्रद्घालुओं को धामों में दर्शन के लिए जाने की अनुमति प्रदान की हुई है। बदरीनाथ में 1000, केदारनाथ में 800, गंगोत्री में 600, यमुनोत्री में 400 और हेमकुंड में 1000 श्रद्घालुओं को ही जाने की अनुमति है। देहरादून स्घ्मार्ट सिटी पोर्टल पर पंजीकरण और देवस्घ्थानम बोर्ड की वेबसाइट से ई-पास लेकर ही यात्रा की अनुमति दी जा रही है।
हेमकुंड साहिब के कपाट शनिवार को विधि विधान के साथ श्रद्घालुओं के लिए खोल दिए गए। कपाट खुलने के दौरान 100 से अधिक श्रदालु मौजूद रहे। इस दौरान सभी श्रदालुओं ने पहली अरदास में भाग लिया।
शनिवार सुबह नौ बजे पंच प्यारों की अगुआई में सचखंड से गुरुग्रंथ साहिब को दरवार साहिब में लारया गया। इसके बाद सुखमणी का पाठ, शबद किर्तन और इस साल की पहली अरदास हुई।
हेमकुंड साहिब के कपाट श्रद्घालुओं के लिए खोल दिए गए। हेमकुंड साहिब में गुरु गोविंद सिंह के चरणों में अरदास की। यात्रा की समाप्ति की तारीखघ् ट्रस्ट की ओर से अभी निश्चित नहीं की गई है तथा मौसम को देखकर बाद में फैसला लिया जाएगा। पूरा प्रयत्न किया जाएगा की यात्रा को जितना ज्यादा से ज्यादा समय के लिए खोला जाए ताकी सभी दर्शन कर सकें। कहा यात्री पयााषिकेश गुरुद्वारा में ट्रस्ट कार्यालय में पंजीकरण कराकर पास लेकर ही प्रस्थान करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!