सीएम ने ली कोविड-19 और डेंगू की रोकथाम व्यवस्थाओं की जानकारी

Spread the love

बागेश्वर। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कोविड-19 और डेंगू के रोकथाम व बेहतर इलाज के लिए की गई व्यवस्थाओं की जानकारी ली। उन्होंने जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए हुए काम को बेहतर बताया। जिलाधिकारी से कोरोना महामारी के साथ डेंगू की रोकथाम के लिए भी वृहद स्तर पर जागरूकता अभियान चलाने को कहा। सभी अधिकारियों को जिले में नियमित रूप से सेनेटाइजेशन का कार्य करने और सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश दिए। वीडिया कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सीएम रावत ने कोरोना व डेंगू की रोकथाम के लिए हो रहे कार्यों की समीक्षा की।
उन्होंने कवारंटाइन सेंटरों में बेहतर सुविधाएं देने को कहा। वहां रह रहे प्रवासियों की नियमित जांच करने और किसी प्रकार के लक्षण पाए जाने पर तत्काल स्वास्थ्य परीक्षण कराने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी से एक्टिव कांट्रेक्ट ट्रेसिंग कराते हुए होम क्वरंटाइन के नियमों का कड़ाई से पालन कराने को कहा। उन्हें मानसून को देखते हुए सभी तैयारियां समय पर पूरी करने के भी निर्देश दिए। मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने कहा कि कोरोना के खिलाफ चल रही लड़ाई में किसी प्रकार की लापरवाही व ढील नहीं होनी चाहिए। ऐसा होने पर अब तक के परिणामों पर पानी फिर सकता है। उन्होंने अधिकारियों व कर्मचारियों से पूरी निष्ठा व मनोयोग से जिम्मेदारियों का निर्वहन करने को कहा। जिलाधिकारी रंजना राजगुरु ने बताया कि जिले में अब तक 1571 सेंपलों की जांच कराई जा चुकी है। जिसमें 86 मामले पॉजीटिव आए। इनमें से 74 मरीज ठीक हो चुके हैं, 11 का जिले के कोविड केयर सेंटर में उपचार चल रहा है, जबकि एक की मौत हो चुकी है। उन्होंने बताया कि जिले का रिकवरी प्रतिशत 86 प्रतिशत है। वहीं अब जिला अस्पताल में कोरोना की जांच के लिए ट्रू नेट मशीन भी लगा दी गई है। उन्होंने बताया कि कांडा व कपकोट के अस्पतालों में आने वाले मरीजों का रैपिड टेस्ट किया जा रहा है। जिसके तहत अब तक 238 मरीजों का टेस्ट किया गया, सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। इस मौके पर सीडीओ डीडी पंत, एडीएम राहुल कुमार गोयल, प्रभारी सीएमओ डॉ. वीके सक्सेना, डीडीओ केएन तिवारी, आपदा प्रबंधन अधिकारी शिखा सुयाल आदि मौजूद रहे।

 

जिले से अब तक 1783 लोगों की सैंपलिंग
चम्पावत। जिले से अब तक 1783 लोगों की सैंपलिंग की गई है। 59 पॉजिटिव केस में से 51 लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया है। ये जानकारी डीएम एसएन पांडेय ने वीसी के जरिए मुख्यमंत्री को दी। डीएम ने बताया कि ट्रूनेट मशीन से सात लोगों के सैंपल लिए जा चुके हैं। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने डीएम को कोरोना संक्रमण को देखते हुए अतिरिक्त सावधानी बरतने के निर्देश दिए।शनिवार को सीएम ने वीसी के जरिए डीएम को निर्देश दिए। सीएम ने कहा कि कोरोना वायरस के बाद अब डेंगू से लड़ना चुनौती है। उन्होंने डेंगू की रोकथाम के लिए संवेदनशील क्षेत्रों में जागरुकता अभियान चलाने को कहा। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग, फेस कवर लगाने समेत अन्य नियमों का कड़ाई से पालन करने को कहा। मानसून सीजन में सड़कों को खोलने के लिए पर्याप्त जेसीबी मशीनों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए।डीएम ने बताया कि जिले में सभी नियमों का पालन कड़ाई से किया जा रहा है। कहा कि मास्क नहीं पहनने, सामाजिक दूरी का पालन नहीं करने और अन्य नियमों का उल्लंघन करने पर 1926 लोगों का चालान किया जा चुका है। वीसी में एडीएम टीएस मर्तोलिया, सीडीओ राजेन्द्र सिंह रावत, सीएमओ डॉ.आरपी खंडूरी, एसडीएम अनिल गर्ब्याल व शिप्रा जोशी, डीडीओ एसके पंत, एपीडी विम्मी जोशा, पीएमएस डॉ.आरके जोशी, एसीएमओ डॉ. इन्द्रजीत पाण्डेय मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!