कांग्रेस की वर्चुअल कान्फ्रेंस-कार्यकर्ता संवाद की हुई शुरूआत

Spread the love

देहरादून। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान में जिला स्तरीय वर्चुअल कान्फ्रेंस-कार्यकर्ता संवाद की शुरूआत आज नैनीताल जनपद से हुई। ज्ञातव्य हो कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा कोरोना महामारी के चलते अपने कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद करने के उद्देश्य से जिला स्तरीय वर्चुअल सम्मेलन करने का निर्णय लिया है उसी के तहत आज प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने नैनीताल जनपद एवं हल्द्वानी महानगर से कार्यक्रम की शुरूआत करते हुए कार्यकर्ताओं से सोषल मीडिया के माध्यम से सीधा संवाद किया। कार्यकर्ताओं से हुए संवाद में प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह, नेता प्रतिपक्ष डॉ०
इन्दिरा हृदयेष,पूर्व मुख्यमंत्री हरीष रावत, उपनेता प्रतिपक्ष करण महरा, सहप्रभारी राजेष धर्माणी, पूर्व राष्ट्रीय सचिव प्रकाश जोशी तथा अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेश अध्यक्ष राजकुमार, युवा कांग्रेस के अध्यक्ष सुमित्तर भुल्लर, महिला कांग्रेस अध्यक्ष सरिता आर्य, पूर्व मंत्री हरीष दुर्गापाल ने प्रतिभाग किया। कार्यक्रम का संचालन प्रदेश उपाध्यक्ष एवं वर्चुअल सम्मेलन संयोजक सूर्यकान्त धस्माना ने किया। वर्चुअल सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण लम्बे समय से कार्यकर्ताओं से बात नहीं हो पा रही है जिसके लिए कांगे्रस पार्टी ने वर्चुअल सम्मेलन के माध्यम से सम्पर्क करने का प्रयास किया है। उन्होंने कोरोना महामारी के चलते लगाये गये लॉक डाउन के कारण आम जनता को हुई परेषानी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा जरूरतमंदों की सहायता के लिए उनका धन्यवाद किया। प्रीतम सिह ने कहा कि देश एवं प्रदेश की भाजपा सरकारें कोरोना महामारी से निपटने में पूरी तरह विफल रही हैं। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड राज्य में पर्यटन पर आधारित रोजगार है तथा आज प्रदेश का पर्यटन उद्योग पूरी तरह से चैपट हो चुका है जिसके चलते इस पर आधारित लोग बेरोजगार हो चुके हैं। उन्होने यह भी कहा कि प्रवासी नागरिकों के वापस आने के कारण बेरोजगारों की लाईन और लम्बी हो चुकी है तथा राज्य सरकार के पास इनके रोजगार की कोई व्यवस्था नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी द्वारा सत्ता में रहते हुए जिन विकास की योाजनाओं को षुरू किया था भाजपा सरकार ने उन्हें भी बन्द कर दिया। यहीं नहीं उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेसजनों द्वारा कोरोना काल में लोगों तक पहुंचाई जा रही सहायता के लिए भी उनके खिलाफ राजनैतिक विद्वेश की भावना से झूठे मुकदमे लादे गये। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी आने वाले दिनों में भाजपा सरकारों की विफलता के खिलाफ एक रोडमैप तैयार कर जनता के बीच जाकर भाजपा सरकार की विफलताओं को उजागर करेगी। प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने जो एप लॉच किया था उसके माध्यम से कांग्रेस पार्टी के पास पहुंची लोगों की समस्याओं का कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने समाधान करने का हर संभव प्रयास किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी सदैव समाज के अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति के साथ खडी रही है। उन्होंने प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा कोरोना महामारी के चलते लगाये गये लॉक डाउन के दौरान किये गये कार्यों की प्रसंशा करते हुए कहा कि पार्टी ने जिम्मेदार विपक्ष की भूमिका का निर्वहन करते हुए जरूरतमंदों की सहायता करने के साथ ही कोरेन्टाइन सैन्टरों की बदहाली व अव्यवस्थाओं के सम्बन्ध में समय-समय पर सरकार को चेताया। उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी ने आम आदमी, मजदूर, बेरोजगार एवं किसानों की बात को भी सरकार तक पहुंचाया। उन्होंनेयह भी कहा कि कोरोना के कारण जिन लोगों का रोजगार चला गया है उनके लिए भी कांग्रेस पार्टी ने एकमुष्त पैकेज की मांग की परन्तु भाजपा सरकार अनसुना करते हुए जनता को 20 लाख करोड़ के पैकेज में उलझाने का काम कर रही है जिसे हमें जनता के बीच लेजाना होगा। उन्होंने कहा कि आज भाजपा राम मन्दिर निर्माण का श्रेय लेने का प्रयास कर रही है जबकि यह फैसला सर्वोच्च न्यायालय का है तथा कोई भी सरकार सत्ता में होती वह भी मन्दिर का निर्माण करवाती। पूर्व मुख्यमंत्रीहरीश रावत ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा कार्यकर्ताओं से संवाद के लिए आयोजित की जा रही वर्चुअल सम्मेलनों की सराहना करते हुए कहा कि पार्टी का यह निर्णय सराहनीय है। उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि पार्टी को वर्चुअल रैलियों का भी आयोजन करने की आवष्कता है। उन्होंने कहा कि 2024 के चुनाव से पूर्व हमें 2022 के चुनाव के लिए मैदान तैयार करने की जरूरत है। उन्होने कहा कि भाजपा चाहती है कि उत्तराखण्ड का विधानसभा चुनाव मोदी बनाम कांग्रेस बनाना चाहती है परन्तु कांग्रेस को चाहिए कि इसे त्रिवेन्द्र सरकार बनाम कांग्रेस बनाने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा भूख, बेरोजगारी, मंहगाई से लोगों का ध्यान हटाने की कोषिष कर रही है परन्तु हमें इनकी विफलताओं के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी के शासन में कराये गये विकास कार्यों एवं भाजपा सरकारों की विफलताओं पर जनता का ध्यान आकर्शित करना है।
नेता प्रतिपक्ष डॉ0 इन्दिरा हृदयेष ने कार्यकर्ताओं से संवाद करते हुए कहा कि पूरे कोरोना काल में भाजपा सरकारे पूरी तरह विफल हुई हैं। राज्य की स्वास्थ्य सेवायें चैपट हो चुकी है, बाहर से आने वाले लोगों को जहां क्वारेंटाइन किया गया है वहां गंदगी के अंबार लगे हुए हैं तथा उनके लिए सरकारी स्तर पर कोई व्यवस्था नही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने बेरोजगार हुए लोगो के लिए रोजगार का कोई रोडमैप तैयार नहीं किया है जिसके कारण आने वाले समय में बेरोजगारी के कारण भुखमरी फैलने का खतरा बना हुआ है। उन्होंने कहा कि सरकार के इंतजामों का यह आलम है कि वह कर्मचारियों को तनख्वाह तक नहीं दे पा रही है जो राज्य सरकार की प्रबन्धन नीति की विफलता है। उपनेता प्रतिपक्ष करण महरा ने कहा कि भाजपा लगातार मूल मुद्दों से जनता का ध्यान हटाने की कोशिश कर रही है हमें आक्रामक रूख अख्तियार करते हुए इसकी सच्चाई जनता तक ले जानी है। उन्होने कहा कि कांग्रेस शासन में चलाई गई जिन योजनाओं को ठण्डे बस्ते में डाला है उन्हें लेकर हमें जनता के बीच जाना है तथा कांग्रेस षासन की जनहितकारी योजनाओं के खिलाफ भाजपा सरकार द्वारा किये गये शडयंत्र को उजागर करना है। उन्होंने कहा कि पर्यटन प्रदेश होने के चलते राज्य सरकार द्वारा बनाये गये गलत नियमों के कारण पर्यटक प्रदेश में आने से कतरा रहे हैं।
पूर्व राष्ट्रीय सचिव प्रकाश जोशी ने कहा कि हमारी लडाई दो रास्तों पर है एक कोरोना से तथा एक जनहित में प्रदेश सरकार से, जनता कांग्रेस पार्टी से बहुत आशान्वित है। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने 10 जिलों 16 राजकीय महाविद्यालय स्वीकृत किये थे जिसे भाजपा सरकार ने सत्ता में आते ही रद्द कर दिया है जिसे हमें जनता के बीच ले जाना है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के अव्यवहारिक लॉक डाउन पर भी कांग्रेस पार्टी को मुखर होने की आवश्यकता है। कार्यक्रम का संचालन करते हुए प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना ने कहा कि हम सडक पर भी उतरेंगे और प्रदेश के अंतिम छोर के कार्यकर्ता तक संचार तकनीक के माध्यम से कार्यकर्ताओं तक पहुंचने का प्रयास करेंगे। जिलाध्यक्ष सतीश नैनवाल एवं महानगर अध्यक्ष राहुल छिमवाल ने सभी वरिश्ठ नेतागणों का स्वागत करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी नेतृत्व द्वारा जो भी निर्देष दिये जायेंगे उनका पालन किया जायेगा तथा भाजपा सरकारों की विफलताओं को जनता तक पहुंचाया जायेगा। वर्चुअल सम्मेलन को खष्टी बिष्ट, पुष्कर दुर्गापाल, महेश शर्मा, बीना जोशी, जाकिर हुसैन, बीडी खोलिया, अन्नू आर्य, गुरूप्रीत सिंह, मीनू बिष्ट, भोला दत्त भट्ट, राजेन्द्रसिंह बिष्ट, गुणवन्त सिंह, किरन डालाकोटी आदि ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में जिला एवं महानगर कांग्रेस कमेटी के सभी ब्लाक एवं नगर अध्यक्षों ने हिस्सा लिया। प्रदेश मुख्यालय से महामंत्री राजेन्द्र षाह, निवर्तमान प्रवक्ता गरिमा दसौनी एवं पूर्व सचिव राजेष चमोली भी कार्यक्रम में बने हुए थे। अंत में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री प्रीतम सिंह ने सभी नेताओं को अपने विचार रखने के लिए धन्यवाद देने के साथ ही सोषल मीडिया विभाग के प्रदेश अध्यक्ष अमरजीत सिंह, विषाल मौर्य, विजय रतूडी मोन्टी, कार्तिक चांदना, दीपा खत्री सहित सभी पदाधिकारियोंका वर्चुअल सम्मेलन को सफलता पूर्वक आयोजित करने के लिए धन्यवाद किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!