कोरोना का खौफ और बढ़ा, भारत ने ब्रिटेन से आने वाली उड़ानों पर लगाया प्रतिबंध

Spread the love

नई दिल्ली, एजेंसी। ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिलने के कारण दुनिया भर में खौफ और हड़कंप मचा हुआ है। इससे ब्रिटेन में कोरोना के मामलों में तेजी से वृद्घि हुई है। इसके मद्देनजर भारत ने ब्रिटेन से आने वाली सभी उड़ानों पर सोमवार रात 12 बजे से प्रतिबंध लगा दिया है। उससे पहले आने वाली उडान के हर यात्री के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है। इससे पहले फ्रांस, जर्मनी, नीदरलैंड समेत यूरोप के कई देशों ने ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट पर प्रतिबंध लगा दिया है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा कि ब्रिटेन में मौजूदा स्थिति को देखते हुए भारतीय सरकार ने वहां से भारत आने वाली सभी उड़ानों को अस्थायी रूप से 31 दिसंबर को रात 11:59 बजे तक निलंबित कर दिया है। यह निलंबन 22 दिसंबर की रात 11़59 बजे से लागू होगा।
नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने कहा कि ब्रिटेन से खबरें हैं कि नया वायरस खतरनाक स्तर पर बहुत तेजी से फैल रहा है। इसलिए हमने 22 दिसंबर को रात 12 बजे से से तय किया है और ब्रिटेन की सभी उड़ानों को 31 दिसंबर 2020 तक अस्थायी रूप से सस्घ्पेंड कर दिया गया है।
इससे पहले दिल्ली के मुख्घ्यमंत्र अरविंद केजरीवाल और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ब्रिटेन से आने वाली उड़ानों पर प्रतिबंध की मांग की थी। अरविंद केजरीवाल ने केंद्र से गुजारिश की थी कि ब्रिटेन से हवाई उड़ानों पर तत्काल प्रतिबंध लगाया जाए। इसके साथ यह भी कहा है कि लगातार बढ़ते मामलों के बीच ब्रिटेन के जरिये कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ सकते हैं। ऐसे में केंद्र सरकार को तत्काल ब्रिटेन से आने वाली हवाई सेवाओं पर लगाम लगानी चाहिए।
ब्रिटेन के पीएम बोरिस जानसन ने बताया था कि देश में मिला ये नया स्ट्रेन करीब 60-70 फीसद अधिक तक संक्रामक है। लिहाजा ये पहले से ज्यादा खतरनाक है। उनके मुताबिक, इसकी वजह से अस्पतालों में मरीजों की संख्घ्या में जबरदस्त इजाफा देखने को मिला है। इटली में जिन दो मरीजों में इस वायरस का नया स्ट्रेन पाया गया है, वे दोनों कुछ दिन पहले लंदन से आए थे। फिलहाल दोनों को आइसोलेशन में रखा गया है।
कोरोना के नए स्ट्रेन पर वैज्ञानिकों के अलावा विभिन्न देशों की सरकारों की भी नजर है। जर्मनी ने ब्रिटेन की सभी उड़ानों को आधी रात से निलंबित करने का फैसला किया है। स्वास्थ्य मंत्री जेन्स स्पैन ने कहा कि नया स्ट्रेन जर्मनी में अभी तक पहचाना नहीं गया है, लेकिन हम ब्रिटेन से आ रही रिपोर्टों को बहुत गंभीरता से ले रहे हैं। उधर, इटली के स्वास्थ्य मंत्री रबर्टो स्पेरान्घ्जा ने कहा है कि लंदन में खोजा गया कोरोना वायरस का नया प्रकार चिंता का विषय है। इटली ने भी ब्रिटेन से आने वाली उड़ानों प्र प्रतिबंध लगा दिया है।
सऊदी अरब और तुर्की ने सभी विदेश यात्राओं पर एक सप्घ्ताह के लिए रोक लगा दी है। इस दौरान कोई विमान देश के बाहर न जाएगा और न ही आएगा। नीदरलैंड ने रविवार से ब्रिटेन से यात्रियों को ले जाने वाली उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया और यह प्रतिबंध 1 जनवरी तक लागू रहेगा। इसके अलावा बुल्गारिया, लिथुआनिया, रोमानिया, लातविया, एस्टोनिया और चेक गणराज्य ने भी ब्रिटेन से उड़ान पर रोक की घोषणा की है। स्वीडन ने कहा कि वह ब्रिटेन से प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने के फैसले पर काम कर रहा है। अस्ट्रिया भी ब्रिटेन से उड़ानों पर प्रतिबंध लगाने की योजना बना रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!