दामाद ने जंगल में छोड़ा ससुर, भटकते हुए हो गयी मौत

Spread the love

देहरादून। संदिग्ध परिस्थितियों में पुलिस की चेकिंग से बचने के लिए जंगल के रास्ते जा रहे बुजुर्ग की मौत हो गई।
खोजबीन के उन्नीस घंटे के बाद बुजुर्ग परिजनों को जंगल में मिल गए लेकिन पानी पीने के बाद ही बुजुर्ग ने दम तोड़
दिया। क्लेमनटाउन थाना पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है।
सीओ सदर अनुज कुमार ने बताया कि मंगलवार की अपराह्न तीन बजे तौहीद निवासी क्लेमन्टाउन अपने ससुर नसीम
(55) निवासी लोहियानगर पटेलनगर और पत्नी संग बाइक से सहारनपुर जा रहा था।आशारोड़ीचेक पोस्ट पर चेकिंग के
चलते तौहीद ने ससुर को बाइक से उतार दिया और जंगल के रास्ते आगे मिलने की बात की। इस पर तौहीद आशारोड़ी
चौक से आगे पहुंच गया,लेकिन एक घंटे इंतजार के बाद भी नसीम वहां नहीं पहुंचा। इसकी सूचना क्लेमनटाउन थाना
पुलिस और वन विभाग को दी। सूचना पर टीमों ने जंगल में खोजबीन शुरू की,लेकिन नसीम का पता नहीं चल पाया।
बुधवार की सुबह नसीम का बेटा कुर्बान अपने दो साथियों के साथजंगल में नसीम की खोजबीन कर रहा था। आशारोड़ी
चेक पोस्ट से करीब दो सौ मीटर की दूरी पर जंगल में उन्हें नसीम मिल गया। सीओ ने बताया कि नसीम ने कुर्बान से
पानी मांगा जिस पर पानी पीने के बाद नसीम की मौत हो गई। कुर्बान ने मोबाइल नेटवर्क नहींहोने पर दोस्तों को मौके
पर रोक दिया और घर पहुंचकर परिजनों को इसकीजानकारी दी। परिजन मौके पर पहुंचे और सूचना पर एसओ
क्लेमनटाउन नरोत्तम बिष्ट भी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने की बात कही जबकि परिजनों ने नसीमके
बीमार होने के चलते पोस्टमार्टम नहीं कराने की बात कही। पुलिस अफसरों के निर्देश पर पुलिस ने पोस्टमार्टम करानेके
लिए शव को मोर्चरी भिजवा दिया। सीओ अनुज कुमारने बताया कि परिजनों ने दिल की बीमारी से ग्रसित होने की
जानकारी दी है।पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत के कारणों का पता चल सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!