देघाट गोलीकांड के शहीद स्वतंत्रता सेनानियों को दी श्रद्धांजलि 

Spread the love

अल्मोड़ा। देघाट गोलीकांड में 19 अगस्त 1942 को शहीद स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को बुधवार को भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी गई। देघाट स्थित शहीद स्मारक पर सल्ट विधायक सुरेंद्र सिंह जीना समेत कई लोगों ने पुष्पचक्र अर्पित कर भावर्पूण स्मरण किया। कोरोना महामारी के चलते इस बार कार्यक्रम सादगी से मनाया गया। शहीद दिवस पर बुधवार की सुबह करीब 11 बजे सल्ट विधायक सुरेंद्र सिंह जीना सहित अन्य जनप्रतिनिधि व स्थानीय लोग देघाट स्थित स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के शहीद स्मारक पर पहुंचे। यहां देघाट गोलीकांड में शहीद हुए स्वतंत्रता संग्राम सेनानी हरीकृष्ण उप्रेती व स्वतंत्रता संग्राम सेनानी हीरामणि बडौला को पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। इसके बाद देघाट मल्लीबाजार स्थित गोलीकांड वाले स्थल पर बने स्मारक पर भी शहीदों को पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। कोरोना महामारी के चलते इस बार सोशल डिस्टेंसिंग में सादगी पूर्वक कार्यक्रम आयोजित किया गया। साथ ही इस बार सांस्कृतिक एवं मंच पर कार्यक्रम भी नहीं किये गये। गौरतलब है कि महात्मा गांधी के भारत छोड़ो आंदोलन के आह्वान पर 1942 को आज ही के दिन देघाट में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ विद्रोह शुरू कर दिया था। आंदोलन को कुचलने के लिये अंग्रेजों ने स्वतंत्रता सेनानियों पर गोली बरसाई थी। जिसमें दो आंदोलनकारी शहीद और कई आंदोलनकारी घायल भी हो गये थे। शहीदों की याद में हर वर्ष देघाट में 19 अगस्त को शहीदों को नमन किया जाता है। यहां शहीदों को श्रद्धांजलि देने वालों देवीदत्त शर्मा, जिला पंचायत सदस्य प्रवीण कुमार, पूरन सिंह, भैरवदत्त, अशोक तिवारी, रघुनाथ सिंह, कविदत्त, वीरेंद्र सिंह रावत, जगदीश उप्रेती, सुरेंद्र गोयल के अलावा तहसीलदार दीवान गिरि गोस्वामी, कानून-गो शंकर गिरी, कांग्रेस मंडल अध्यक्ष कुंवर सिंह कठायत, गंगा पंचोली, कुशलानंद, महेंन्द्र सिंह बंगारी, भूपाल कत्यूरा, अंबादत्त बलोदी, भगत खाती आदि ने शहीद स्मारक पर शहीदों को पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।
शहीदों के पैतृक गांव में भी श्रद्धांजलि कार्यक्रम
स्याल्दे। देघाट गोलीकांड में शहीद स्वतंत्रता संग्राम सेनानी हरिकृष्ण उप्रेती व हीरामणि बडौला के पैतृक गांव में भेलीपार भी गांव में ग्रामीणों ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी। यहां ग्रामीण बालादत्त शर्मा, प्रधान शशि देवी, प्रधान खाल्यो त्रिलोक सिंह, बीडीसी सदस्य जानकी देवी,प्रभा उप्रेती के अलावा शहीद हरीकृष्ण उप्रेती की पौत्री चम्पा उप्रेती, रमेश कुमार के अलावा खल्डुवा,वरंगल, जैखाल आदि गांव के ग्रामीण शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!