डीएम ने जिला योजना के तहत वित्तीय प्रगति कम होने पर जताई नाराजगी

Spread the love

हरेला पर्व पर वृक्षारोपण में फलदार वृक्षों को महत्व दिया जाय
जयन्त प्रतिनिधि। 
पौड़ी। जिलाधिकारी डॉ. जोगदण्डे ने जिला योजना के तहत वित्तीय प्रगति कम होने पर नाराजगी जताते हुए पशु विभाग, चिकित्सा, शिक्षा, सिंचाई, जल संस्थान, पेयजल, पर्यटन, लोनिवि आदि विभागों को कार्यों में प्रगति लाते हुए व्यय बढ़ाने के निर्देश दिये। कहा कि जिला योजना के अन्तर्गत हर दो दिन बाद प्रगति रिपोर्ट की जांच की जायेगी। जिलाधिकारी ने हरेला पर्व को लेकर डीएफओ गढ़वाल को निर्देशित किया कि हरेला पर्व पर नदियों का संरक्षण एवं पुर्नजीवन हेतु अगले तीन साल की कार्य योजना बनाकर स्थान का चिन्हिकरण कर लें, जिसका हरेला पर्व पर 16 जुलाई 2021 को शुभारम्भ किया जाय। साथ ही हरेला पर्व पर विकास खण्ड स्तर पर एवं वन विभाग डिविजन वाइज वृक्षारोपण हेतु लक्ष्य निर्धारित करें। उन्होंने कहा कि फलदार वृक्षों को महत्व दिया जाय, ताकि जंगली जानवर का आबादी वाले क्षेत्रों में आना कम हो सके।
जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने शुक्रवार को विकास भवन सभागार पौड़ी में संबंधित अधिकारियों के साथ जनपद में विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा बैठक ली। डीएम ने राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार संबंधी विवरण लक्ष्य के सापेक्ष भौतिक/वित्तीय उपलब्धि, प्रकाशन, गोष्ठी, जागरूकता कार्यक्रम आदि का विवरण संख्यात्मक रूप में उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने बाल विकास अधिकारी से नंदा गौरा योजना, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं, प्रधानमंत्री मातृ वन्दना योजना, वन स्टॉप सेंटर, महिला सशक्तिकरण आदि योजनाओं की तथा समाज कल्याण अधिकारी से विधाव पेंशन, विकलांग पेंशन की अद्यतन जानकारी ली। वहीं मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया कि जहां कोविड उपकरण नहीं दिये गये हैं, वहां उपकरण उपलब्ध करायें। जिला पर्यटन विकास अधिकारी को दीन दयाल उपाध्याय होम स्टे योजना में प्रगति लाने, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना (एमएसवाई) के तहत योजनावार एवं वर्षवार विवरण तैयार करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने उद्यान, कृषि, पशु, डेरी, मत्स्य, रेशम आदि विभागों को निर्देशित किया कि वर्तमान वित्तीय वर्ष की प्रगति रिपोर्ट के साथ ही गत वर्ष का लक्ष्य के सापेक्ष प्राप्त भौतिक/वित्तीय उपलब्धि का संक्षिप्त विवरण भी उपलब्ध करायें। उन्होंने जिला अर्थ संख्याधिकारी को निर्देशित किया कि सेवा का अधिकार, जल जीवन मिशन योजना, स्वामित्व योजना, भूमि अधिग्रहण, पीएम स्वानिधि योजना, पीएम आवास, मुख्यमंत्री घोषणा, शासन स्तर पर लम्बित प्रकरणों का विवरण, नमामि गंगे, वृक्षारोपण, जल संरक्षण, न्यूट्री गार्डन, ग्रोथ सेंटर, अभिनव पहल के तहत भी संबंधित विभागों से विवरण प्राप्त कर लें। पलायन रोकथाम योजना के तहत अवगत कराया गया कि 91 ग्रामों में से 60 ग्रामों की कार्य योजना तैयार कर ली गई है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगांई, डीएफओ गढ़वाल मुकेश कुमार, जिला विकास अधिकारी वेद प्रकाश, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मनोज शर्मा, मुख्य कृषि अधिकारी डीएस राणा, उपजिलाधिकारी पौड़ी एसएस राणा, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी संजय शर्मा, जिला पर्यटन विकास अधिकारी खुशाल सिंह नेगी, जिला पूर्ति अधिकारी केएस कोहली, जिला समाज कल्याण अधिकारी सुनीता अरोड़ा, डीपीओ जितेन्द्र कुमार, एआरटीओ पौड़ी राजेन्द्र बिराटिया, अधि.अभि. लघु सिंचाई राजीव रंजन, अधि.अभि. लोनिवि अरूण कुमार पाण्डेय, अधि.अभि. जल संस्थान एसके राय, मत्स्य अधिकारी अभिषेक मिश्रा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!