डीएफओ कार्यालय पर तालाबंदी करेंगे ग्रामीण

Spread the love

रुद्रप्रयाग। अगस्त्यमुनि ब्लॉक के अंतर्गत स्वीकृत दो मोटरमार्गों पर डेढ़ दशक बाद भी निर्माण कार्य शुरू न होने से क्षेत्रीय ग्रामीणों में रोष है। दोनों मोटरमार्ग का निर्माण कार्य वन भूमि के चलते लटका पड़ा है। ग्रामीणों ने कहा कि यदि शीघ्र निर्माण कार्य शुरू नहीं किया गया तो अक्टूबर प्रथम सप्ताह में डीएफओ कार्यालय पर तालाबंदी व धरना प्रदर्शन किया जाएगा। मोटरमार्ग निर्माण संघर्ष समिति के अध्यक्ष अवतार सिंह राणा व उपाध्यक्ष रोशनी मलासी ने इस संबंध में जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग को ज्ञापन भेजा है। कहा कि पिछले लंबे समय से ग्रामीण नाकोट-ताली-बगर-कोटनगर-जहंगी एवं अगस्त्यमुनि-गणेशनगर-डोभा मोटरमार्ग पर निर्माण कार्य करने की मांग करते आ रहे है। अनुसूचित जाति बाहुल्य क्षेत्र के लिए स्पेशल कंपोनेट प्लान में सात किमी नाकोट-तालीबगर-जहंगी मोटरमार्ग स्वीकृत हुआ था। जबकि अगस्त्यमुनि-गणेशनगर-डोभा मोटरमार्ग पर साढ़े तीन किमी मोटरमार्ग का निर्माण कार्य होना शेष है। मोटरमार्ग न होने से क्षेत्रीय ग्रामीणों को रोजमर्रा की जरुरत की सामग्री को पीठ पर लादकर लाना पड़ता है। बीमार व गर्भवती को अस्पताल पहुंचाने में परेशानियां झेलनी पड़ती है। मोटरमार्ग पर निर्माण में रुकावट बन रहे कुछ पेड़ों के हटाए जाने पर रूमसी गांव में सिविल भूमि पौधारोपण के लिए दी गई है। लेकिन, वन विभाग का कहना है कि भूमि पर ढलान होने से यहां पौधारोपण नहीं किया जा सकता है। जिसके चलते वन भूमि की स्वीकृति नहीं मिल पा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!