कृषि कानूनों के खिलाफ आर पार की लड़ाई का मन बना चुके हैं किसान : राहुल चौधरी

Spread the love

हरिद्वार 31 मई। प्रदेश किसान कांग्रेस के प्रवक्ता राहुल चौधरी ने कहा है कि किसानों ने तीनों कृषि कानूनों को रद्द कराने तक आर-पार की लड़ाई का मन बना लिया है। कोरोनावायरस प्रकोप के चलते अब केंद्र सरकार को किसानों की मांगे मान लेनी चाहिए। उन्होंने देश के किसानों की 80 फीसदी आबादी को भारत का भाग्य विधाता बताते हुए कहा कि बंगाल विधानसभा एवं यूपी पंचायत चुनावों के बाद किसानों को अपनी शक्ति का एहसास हो गया है। उन्होंने दावा किया कि आगामी चुनावों के बाद देश में किसानों की सरकार बनेगी। प्रैस को जारी एक बयान में राहुल चौधरी ने कहा कि भारत का भविष्य किसानों के नेतृत्व में ही सुरक्षित है। चाहे चौधरी चरण सिंह हो, बाबा टिकैत या उनकी किसान यूनियन। भारत को कृषि प्रधान देश बताते हुए उन्होंने कहा कि देश की 80 फीसदी जनता आंदोलन कर रही हो और सरकार चंद पूंजीपतियों के इशारे पर काम कर रही है। लेकिन अब ऐसा नहीं होने दिया जाएगा और देश का किसान अब गांव को ही सर्वसुविधा संपन्न बनाने का कार्य करेगा। देश में बढ़ते शहरीकरण को बीमारियों का पर्याय बताते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि देश में जब से शहरीकरण बढा है तब से बीमारियों का प्रकोप भी लगातार बढ़ता जा रहा है। सरकारों के पास बीमारियों का कोई उपचार नहीं है। जो शहर जितना अधिक बड़ा है वहा उतने ही अधिक बीमार निकल रहे हैं और सरकार बार-बार लॉकडाउन लगाकर अपनी सफलता का प्रमाण दे रही है। जनता ऐसी सरकार को कतई माफ नहीं करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!