गोखले मार्ग का अतिक्रमण बन सकता है कोरोना का विस्फोटक

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। नगर निगम प्रशासन गोखले मार्ग पर पसरा अतिक्रमण हटाने में पूरी तरह नाकाम रहा है। सांय के समय इस मार्ग पर वाहन चलाना तो दूर की बात है पैदल चलना भी मुश्किल हो जाता है। गोखले मार्ग पर फल-सब्जी के लिए लगने वाली भीड़ के कारण कोरोना वायरस के फैलने का खतरा बना हुआ है। अगर इस भीड़ में एक भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित होता है तो सैकड़ों लोगों के संक्रमित होने की संभावना हो सकती है। ऐसे में प्रशासन के लिए कोरोना पॉजिटिव के सम्पर्क में आये लोगों को चिन्हित करना असम्भव हो सकता है।
आम आदमी पार्टी ने निगम प्रशासन से जल्द से जल्द इस मार्ग से अतिक्रमण हटाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि शहर में कोरोना संक्रमण दिन प्रतिदिन फैल रहा है। यदि गोखले मार्ग में कोई दुकान एवं फल-सब्जी विक्रेता कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो उसकी जिम्मेदारी नगर निगम की होगी।
गोखले मार्ग पर पसरा अतिक्रमण लोगों के लिए मुसीबत बन गया है। स्थानीय प्रशासन एवं नगर निगम प्रशासन ने दावे भले ही तमाम किए गए हों, लेकिन प्रशासन गोखले मार्ग पर पसरे अतिक्रमण को हटाने में हमेशा नाकाम ही नजर आया है। कई बार अतिक्रमण हटाने के बाद भी गोखले मार्ग का अतिक्रमण हट नहीं रहा। आम आदमी पार्टी के महानगर अध्यक्ष राकेश कुमार अग्रवाल ने नगर आयुक्त को प्रेषित पत्र में कहा कि शहर के मुख्य मार्ग गोखले मार्ग पर अतिक्रमण जोरो पर है। उन्होंने कहा कि सांय छ: बजते ही रेडी, फड़ वाले गोखले मार्ग पर दुकानों के आगे फल-सब्जी बेच रहे है। यह लोग सोशल डिस्टेंस का खुल्लेआम उल्लंघन कर रहे है। सड़क के दोनों ओर अतिक्रमण होने से लोगों का पैदल चलना भी मुश्किल हो रखा है। ऐसे में इस मार्ग पर दुर्घटनाओं का खतरा हमेशा बना रहता है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में पूर्व में भी नगर निगम प्रशासन को अवगत कराया गया था, लेकिन कोई भी कार्रवाई अभी तक नहीं हो पाई है। जिस कारण अतिक्रमण कारियों के हौंसले बुलन्द है। सुबह 10 बजे से लेकर शाम 7 बजे तक गोखले मार्ग में अवैध सब्जी मंडी सज जाती है। इसके चलते लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!