कण्वाश्रम झील बनाने को लेकर कांग्रेसियों ने कण्वाश्रम पुल पर किया धरना प्रदर्शन

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कण्वाश्रम के विकास की मांग को लेकर धरना दिया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने प्रदेश
सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार पर पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के कार्यकाल की
योजनाओं को बंद करने का आरोप लगाते हुए कहा कि वर्तमान सरकार कण्वाश्रम को लेकर बनाई गई पर्यटन योजना
को ठंडे बस्ते में डाल रही है। जबकि इस योजना के अस्तित्व में आने से हजारों युवाओं को रोजगार मिल सकता है।
कार्यकर्ताओं ने राज्यपाल को ज्ञापन भेजकर प्रदेश सरकार को कण्वाश्रम को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के
लिए पूर्ववर्ती सरकार की योजनाओं का निर्माण कार्य पूरा कराने के लिए निर्देशित करने की मांग की है।
शनिवार को कांग्रेस कार्यकताओं ने कण्वाश्रम में धरना दिया। कार्र्यकर्ताओं ने कहा कि प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्थल
देश को ‘भारत’ नाम देने वाले शकुंतला&दुष्यंत के पुत्र ‘भरत’ की जन्मस्थली और महान कण्वऋषि की तपस्थली
‘कण्वाश्रम’ को विश्व और देश&प्रदेश के मानचित्र पर पर्यटन का मुख्य केंद्र बनाने के संकल्प के साथ पूर्ववर्ती सरकार के
कार्यकाल में पूर्व मंत्री सुरेन्द्र सिंह नेगी ने 22 करोड़ बजट की व्यवस्था की थी। यह धनराशि आज भी सरकार के पास
उपलब्ध है। कण्वाश्रम में चारदीवारी के अलावा निर्माण कार्य की गति को आगे नहीं बढ़ाया गया। जिससे स्थानीय लोग
अपने को ठगा हुआ महसूस कर रहे है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि वर्तमान डबल इंजन की सरकार कोटद्वार
विधानसभा क्षेत्र के विकास को पूरी तरह से अवरूद्ध कर पूववर्ती सरकार की योजनाओं को बंद करने का प्रयास कर रही
है। एक ओर जहां कोटद्वार नगर निगम के विकास सम्बन्धी प्रस्तावों पर कोई कार्यवाही नहीं हो रही है] वहीं निगम को
सबसे कम बजट देकर भेदभाव किया जा रहा है। कार्यकर्ताओं ने कहा कि जल्द ही कण्वाश्रम में पर्यटन योजनाओं का
काम शुरू नहीं किया गया तो कांग्रेस पार्टी सड़कों पर उतरकर उग्र आंदोलन को बाध्य होगी। प्रदर्शन करने वालों में
जिलाध्यक्ष डॉ- चन्द्रमोहन खरक्वाल] नगर अध्यक्ष संजय मित्तल] महिला कांग्रेस अध्यक्ष शकुन्तला चौहान] यूथ कांग्रेस
कोटद्वार विधानसभा अध्यक्ष विजय रावत] यूथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष अमित राज सिंह] पार्षद सूरज प्रसाद कांति] अमित
नेगी] विवेक शाह] राकेश बिष्ट] अनिल रावत] कृष्णा बहुगुणा] मीना बछवाण] कीर्ति सिंह] कृष्ण चन्द खंतवाल] पूरन
चन्द्र शर्मा] प्रेम सिंह रावत] शशि भूषण] रामपाल] विजय सिंह] बलवीर सिंह रावत] हेमचन्द्र पंवार] विनोद अग्रवाल]
महावीर सिंह रावत] बंटी भाटिया] रेशमा छावड़ा आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!