किसानों को सशक्त बनाने वाले हैं किसान बिल : तीरथ सिंह

Spread the love

चमोली। गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत ने कहा कि केंद्र सरकार ने जो तीन किसान बिल पास किए हैं, वह किसानों को सशक्त बनाने वाले हैं। इससे किसानों की आय दोगुनी होने के साथ किसान अपनी मर्जी से अपने उत्पाद को बेच सकता है। गोपेश्वर के लोक निर्माण विभाग निरीक्षण भवन में पत्रकारों से बातचीत में गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत ने कहा कि किसान बिल का विरोध वह लोग कर रहे हैं, जो किसानों के उत्पाद बेचने में बिचौलिए का काम करते थे। पहली बार प्रधानमंत्री ने किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए बिचौलियों को समाप्त कर किसान को अपनी उपज कहीं भी बेचने के लिए खुली छूट दी है। इससे किसानों को उनकी उपज का उचित लाभ मिलेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों के लिए किसान पेंशन, किसान सम्मान निधि की व्यवस्था कर उनके भविष्य को सुरक्षित किया है। कोरोना काल में जो लोग वापस अपने घरों को लौटे है वे भी खेती किसानी कर अपनी आर्थिकी को बढ़ा सकते हैं, जिससे पलायन भी रुकेगा। नई शिक्षा नीति को बच्चों के भविष्य को सुरक्षा देने वाला बताते हुए कहा कि पूरे देश में एक जैसी शिक्षा व्यवस्था से हर वर्ग के छात्रों को इसका लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में केंद्र सरकार की हर घर नल, हर घर जल की जो योजना चल रही है, वह 2022 तक पूरी हो जाए। बदरी केदार के लिए जो मास्टर प्लान तैयार किया जा रहा है। उससे आने वाले समय में यहां के लोगों को काफी राहत महसूस होगी और तीर्थाटन को भी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने गोपेश्वर में केंद्रीय विद्यालय, जड़ी बूटी शोध संस्थान को लेकर उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया। संसदीय क्षेत्र में बंद हो रहे पॉलिटेक्नीक विद्यालयों को लेकर भी उत्तराखंड सरकार से वार्ता कर उचित समाधान निकालने की बात कही। इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष रघुवीर सिंह बिष्ट, विधायक बदरीनाथ महेंद्र भट्ट, कर्णप्रयाग के विधायक सुरेंद्र सिंह नेगी, प्रेमबल्लभ भट्ट, नंदी राणा, हरक सिंह आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!