कोटद्वार का धीरू मास्टर तमंचा व जिंदा कारतूस सहित गिरफ्तार, गौरव बेबनी पर झोंका था फायर

Spread the love
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। प्रोपर्टी में आपराधिक घटनाओं को लेकर चर्चाओं में रहने वाले धीरेन्द्र्र ंसह रावत उर्फ धीरू मास्टर को तमंचा व जिंदा कारतूस सहित पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मनोज रतूड़ी ने बताया कि कोटद्वार निवासी धीरेन्द्र सिंह रावत उर्फ धीरू मास्टर के खिलाफ दर्ज एक मामले में पुलिस ने उसके घर दबिश दी तो वह भागने लगा, पकड़े जाने पर उसके पास से 32 बोर का एक तमंचा व दो जिंदा कारतूस 32 बोर के मिले। कोतवाल मनोज रतूड़ी ने बताया कि धीरू मास्टर ने पूछताछ के दौरान बताया कि विगत 18 मार्च को गौरव बेबनी उर्फ गोलू पर उसने इसी तमंचे से फायर किया था। पुलिस ने उसके खिलाफ दर्ज मारपीट, गाली-गलौज एवं जान से मारने की धमकी के मुकमदें के अलावा 25 आम्र्स एक्ट में भी मुकदमा पंजीकृत कर उसे जेल भेज दिया है।
कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मनोज रतूड़ी ने बताया कि विगत 1 अगस्त को दीपक नेगी पुत्र प्रताप सिंह निवासी जीवानन्दपुर कोटद्वार ने तहरीर दर्ज कराते हुए बताया था कि आशीष केष्टवाल, धीरेन्द्र सिंह रावत उर्फ धीरू मास्टर, आशीष भडारी द्वारा चाकू से उसके पैर और पेट पर वार किया गया था। साथ ही गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी दी। पीड़ित की तहरीर के आधार पर आईपीसी की धारा 324/504/506 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच उपनिरीक्षक सतेन्द्र भंडारी को सौंपी गई। आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु उपनिरीक्षक सतेन्द्र भंडारी के नेतृत्व में टीम गठित की गई। कोतवाल ने बताया कि गुरूवार सुबह पुलिस टीम ने अभियुक्त धीरेन्द्र सिंह रावत उर्फ धीरू मास्टर पुत्र रूप सिंह निवासी शिवपुर कोटद्वार के घर पर दबिश दी। अभियुक्त धीरेन्द्र्र ंसह रावत अपने घर से भागने की कोशिश करने लगा, लेकिन पुलिस टीम ने चारों ओर से घेरकर उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने अभियुक्त से एक तमंचा 32 बोर व दो जिंदा कारतूस 32 के बोर के बरामद किये। तमंचा अभियुक्त द्वारा लोड किया हुआ था। पुलिस ने तमंचे व कारतूस को कब्जे में लेकर अभियुक्त धीरेन्द्र्र ंसह रावत उफ धीरू मास्टर के खिलाफ आम्र्स अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। कोतवाल मनोज रतूड़ी ने बताया कि अभियुक्त धीरेन्द्र सिंह रावत उर्फ धीरू मास्टर ने 18 मार्च 2020 को गौरव बेबनी उर्फ गोलू पुत्र नेमचन्द बेबनी निवासी मानपुर कोटद्वार पर मारने की नीयत से गोली चलाई गई थी, जो गौरव बेबनी के पैर पर लगी थी। गौरव बेबनी की तहरीर के आधार धीरू मास्टर के खिलाफ आईपीसी की धारा 307/34 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। इस मामले की जांच एसएसआई प्रदीप नेगी कर रहे थे। एसएसआई प्रदीप नेगी द्वारा अभियुक्त धीरेन्द्र सिंह रावत से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि जो तमंचा पुलिस ने जब्त किया है उसी तमंचे से गौरव बेबनी पर गोली फायर किया था। कोतवाल ने बताया कि अभियुक्त धीरू मास्टर को न्यायालय में पेश कर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में पौड़ी जेल भेज दिया है। पुलिस टीम में उपनिरीक्षक सतेन्द्र भंडारी, कांस्टेबल संदीप कुमार, कुलदीर्प ंसह आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!