कोटद्वार में खनन माफियाओं ने प्रभारी तहसीलदार सहित राजस्व विभाग की टीम पर किया जानलेवा हमला

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। कोटद्वार में खनन माफियाओं ने प्रभारी तहसीलदार सहित राजस्व विभाग की टीम पर सुखरो नदी में पत्थरों से जानलेवा हमला किया। इससे पहले भी खनन माफिया कई अधिकारियों पर जानलेवा हमला कर चुके है। कोटद्वार पुलिस ने दो नामजद सहित 20-25 अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया है, जबकि अन्य फरार है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जायेगा।
कोटद्वार भाबर की खोह, सुखरो और मालन नदी में अवैध खनन जोरों पर चल रहा है। प्रभारी तहसीलदार विकास अवस्थी ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि गत शनिवार को वार्ड नंबर 27 के पार्षद द्वारा ज्ञापन देकर अवैध खनन कर खूनीबड़ में स्टॉक करने की शिकायत की गई थी। उपजिलाधिकारी के आदेश पर बीती रविवार रात को वह राजस्व विभाग के टीम के साथ सुखरो नदी में अवैध खनन पर रोक लगाने के लिए छापेमारी व खनन स्टॉक को चेक करने खूनीबड़ में गये थे। सुखरो नदी किनारे 15-20 टे्रक्टर ट्राली कुछ भरी और कुछ खाली थी। टै्रक्टर ट्रालियों को सीज करने के दौरान ऋषभ पुत्र रोबिन सिंह अपने पिता रोबिन सिंह के साथ मौके पर मिले, पूछताछ करने पर उन्होंने बताया कि वह सिम्बलचौड़ निवासी है और घूमने के लिए यहां आये है। कुछ देर बाद वह वहां से चले गये। लगभग 10-15 मिनट बाद पुन: रोबिन सिंह 20-25 लोगों के साथ मौके पर आकर बहस करने लगे, इसी दौरान उन्होंने तहसीलदार सहित राजस्व विभाग की टीम साथ हाथापाई शुरू कर दी। इन लोगों ने पत्थरों से जानलेवा हमला करना शुरू कर दिया। राजस्व विभाग की टीम ने नदी से भागते-भागते मंडी के पास पहुंचकर अपनी जान बचाई। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शुभम रावत पुत्र राम प्रसाद निवासी खूनीबड़, ऋषभ पुत्र रोबिन सिंह निवासी सिम्बलचौड़ को गिरफ्तार कर लिया। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक नरेन्द्र सिंह बिष्ट ने बताया कि प्रभारी तहसीलदार विकास अवस्थी की तहरीर के आधार पर शुभम रावत पुत्र रामप्रसाद निवासी खूनीबड़ कोटद्वार, ऋषभ पुत्र रोबिन सिंह निवासी निम्बूचौड़ कोटद्वार सहित 20-25 अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 332, 353, 307 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। उन्होंने बताया कि शुभम और ऋषभ को गिरफ्तार कर लिया है। अन्य को गिरफ्तार करने के लिए दबिश दी जा रही है। पुलिस टीम में उपनिरीक्षक महेशपाल, कांस्टेबल शमशेर अली, वीरेन्द्र, देवेन्द्र, संजीव यादव, सुधांशु चौधरी आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!