कोटद्वार में सड़के बनी तालाब, दुर्घटना का बना खतरा 

Spread the love
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। बारिश के बीच क्षेत्र की खस्ताहाल सड़कें पानी से इस कदर लबालब हैं कि यहां हर रोज दुर्घटनाएं हो रही हैं, लेकिन अधिकारी चुप्पी साधे बैठे हैं। विकास के दावे करने वाली सरकार भी यहां की खस्ताहाल सड़कों की दशा सुधार पाने में नाकाम दिख रही हैं। इससे लोगों का गुस्सा बढ़ता जा रहा है। कोटद्वार नगर निगम क्षेत्र में पुराना सिद्धबली मार्ग, कुम्भीचौड़-सनेह मार्ग सहित अन्य मार्गों की हालत खस्ता हो चुकी है। उक्त मार्गों पर बरसात के बाद तालाब बन चुका है। मुख्यमंत्री सहित तीन मंत्रियों के जिले में सड़कों की यह दुर्दशा देखकर हर कोई हैरान है।
बता दें कि कुम्भीचौड़-सनेह मार्ग पर बने गड्ढों में बारिश का पानी जमा होने से हर रोज दुर्घटना हो रही है। सड़क पर बने गड्ढे तालाब का स्वरुप ले बैठे हैं। आने जाने वाले राहगीरों को परेशानी उठानी पड़ रही है। लगता है कि अधिकारियों को किसी बड़े हादसे का इंतजार है। फिलहाल खस्ताहाल सड़कों पर भरे पानी से आना जाना मुश्किल हो रहा है। पुराना सिद्धबली मार्ग, कुम्भीचौड़-सनेह मार्ग से रात-दिन सैकड़ों वाहनों का आवागमन होता है। कुम्भीचौड़-सनेह मार्ग पर जगह-जगह बने गड्ढों में बरसात का पानी भर जाने से सड़क तालाब बन गया है। इससे आने जाने वालों को काफी मुसीबतों कर सामना करना पड़ रहा है। गौरतलब है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र्र ंसह रावत सहित वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत, पयर्टन मंत्री सतपाल महाराज, उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत पौड़ी जिले से है। इसके बावजूद भी सड़कों की यह दुर्दशा बनी हुई है। स्थानीय लोगों का कहना है कि कोटद्वार की सड़कों की जब यह दशा है तो पौड़ी जिले की ग्रामीणों क्षेत्रों की सड़कों की क्या दशा होगी। इस मार्ग को ठीक कराया जाना अति आवश्यक है। उन्होंने कहा कि पूरी तरह से जर्जर हो चुकी कुम्भीचौड़-सनेह  सड़क पर कई स्थानों पर बने जानलेवा गड्ढों में बरसात का पानी भर जाने से सड़क जहां तालाब बन चुकी है वहीं इधर से होकर गुजरना खतरे से खाली नहीं रह गया। दिन में तो लोग किसी तरह आते-जाते हैं लेकिन शाम होते ही इन गड्ढों में लोग गिरते नजर आते हैं। कदम कदम पर जानलेवा गड्ढों में बारिश का पानी भर जाने से स्थिति और नारकीय हो गई है।
कोटद्वार में बारिश बनी परेशानी का सबब
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। कोटद्वार में लगातार हो रही बारिश अब लोगों के लिए परेशानी का सबब बन चुकी है। दो दिन से रुक-रुक कर हो रही इस बारिश से अब लोग परेशान हो गए हैं। कई जगह जल भराव हो गया है। लगातार बारिश होने से लोग घरों में कैद रहने को मजबूर हो गए हैं। कोटद्वार में रविवार सुबह से रुक-रुक कर हो रही बारिश का सिलसिला सोमवार को भी जारी रहा।
सोमवार सुबह से हो रही बारिश के कारण जहां सड़कों में जलभराव की स्थिति देखी जा रही है, वहीं कामकाजी लोगों को भी बारिश के चलते अपने-अपने ऑफिस पहुंचने के लिए परेशानियों का सामना करना पड़ा। हालांकि बारिश से उमस भरी गर्मी से राहत मिली है। भीषण गर्मी का कहर झेल रहे लोगों के लिए बारिश वरदान के रूप में आई है। लेकिन बदरीनाथ मार्ग, झण्डाचौक, आमपड़ाव, पटेल मार्ग, स्टेशन रोड़, मालगोदाम रोड़, गाड़ीघाट, काशीरामपुर तल्ला, पुराना सिद्धबली मार्ग, गोविन्दनगर, देवीरोड़, सिताबपुर, पदमपुर, मानपुर सहित अन्य स्थानों में जलभराव होने से लोगों को पैदल निकलना भी मुश्किल हो गया है। सोमवार को थोड़ी देर की तेज बारिश के बाद क्षेत्र की सड़कों पर जलजमाव जैसी स्थिति हो गई। कई मोहल्लों में नाली की सफाई नहीं होने से सड़कों पर पानी फैल गया। क्षेत्र में अधिकांश जगह जलजमाव हो गया है।
पुराना सिद्धबली मार्ग पर बरसात के पानी की निकासी न होने से जमा पानी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!