दिल्ली में शराब की दुकानें भी अड-ईवन के आधार पर खुलेंगी, रेस्टोरेंट रहेंगे बंद, जानिए जिम, सैलून और सिनेमा हल का हाल

Spread the love

नई दिल्ली, एजेंसी। दिल्ली सरकार ने शनिवार को कोरोना वायरस संक्रमण (कोविड-19) को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लकडाउन में दी गई ढील के बारे में एक स्पष्टीकरण जारी किया है। स्पष्टीकरण के अनुसार, सरकार ने कहा है कि राजधानी में शराब की दुकानें सोमवार 7 जून से अड-ईवन के आधार पर खुलेंगी। रेस्तरां और बार अभी बंद ही रहेंगे, भले ही वो बाजार और शपिंग मल में क्यों न हों। जिम, स्पा, सैलून, पार्लर और सिनेमा हल भी नहीं खुलेंगे। हालांकि, रजिस्ट्री जैसी राजस्व सेवाएं राष्ट्रीय राजधानी में अनलक प्रक्रिया के दौरान काम कर सकती हैं।
इससे पहले दिन में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजधानी में जारी लकडाउन के बीच कुछ क्षेत्रों के लिए ढील देने की घोषणा की। दिल्ली में 19 अप्रैल से लकडाउन लगाया गया था जब दिल्ली अब तक के अपने सबसे खराब स्वास्थ्य संकट जूझ रही थी और यहां प्रतिदिन कोरोना के 23,000-28,000 नए मामले सामने आ रहे थे। केजरीवाल ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि अन्य गतिविधियों में और ढील के साथ लकडाउन अभी आगे भी जारी रहेगा।
बाजार और शपिंग मल 7 जून से सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक अड-ईवन के आधार पर खुलेंगे। दिल्ली मेट्रो अपनी क्षमता के 50 प्रतिशत के साथ संचालित होगी और निजी और सरकारी अफिसों को 50 प्रतिशत स्टाफ के साथ फिर से खोलने की अनुमति होगी। केजरीवाल ने सुझाव देते हुए कहा कि प्राइवेट अफिसों में कार्यरत लोगों को अभी कुछ दिन और वर्क फ्रम होम (घर से काम करना) को ही प्राथमिकता देनी चाहिए।
दिल्ली में अनलक प्रक्रिया सबसे पहले 31 मई को शुरू हुई थी जहां कारखानों और निर्माण स्थलों में काम करने वाले मजदूरों को छह सप्ताह के लंबे समय के बाद काम फिर से शुरू करने की अनुमति दी गई थी। दिल्ली सरकार के मुताबिक, मजदूर सबसे कमजोर आर्थिक वर्ग में आते हैं।
दिल्ली में कोरोना के अब तक 1,428,863 मामले दर्ज किए गए हैं और इस बीमारी के कारण 24,557 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग के हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, शनिवार को दिल्ली में पिछले 24 घंटों में 414 नए मरीजों के साथ दैनिक मामलों और गिरावट आई है। अब तक कुल 13,97,575 मरीज इस महामारी को मात देकर ठीक भी हो चुके हैं, जबकि एक्टिव मामले घटकर 6,731 हो गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!