महाराष्ट्र: निसर्ग तूफान की रफ्तार कम हुई

Spread the love

मुम्बई, एजेन्सी। मुंबई में निसर्ग तूफान की रफ्तार कम होने के साथ ही मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य प्रशासन को (बचाव एवं राहत) तत्काल राहत कार्य सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि ठाकरे निसर्ग के प्रभाव के बारे में नवीनतम सूचनाएं प्राप्त करने के लिए पश्चिम तट के जिलों के जिलाधिकारियों के साथ लगातार संपर्क में हैं। मुम्बई, ठाणे, रायगढ़, पालघर, रत्नागिरि और सिधुदर्ग जिले इस भयंकर चक्रवाती तूफान से प्रभावित हुए हैं। यह तूफान रायगढ़ जिले में पहुंचा और उस दौरान 100-110 किलोमीटर प्रति घंटे से लेकर 102 किलोमीटर प्रति घटें की रफ्तार से आंधी चल रही थी।
मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया,‘‘ मुख्यमंत्री ने (बचाव एवं राहत) अभियान के लिए अपनी तैयारी बनाये रखने और चक्रवात के मुम्बई और ठाणे से उत्तरी महाराष्ट्र की ओर बढ़ने के साथ ही तत्काल राहत कार्य सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।’’ मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा कि ठाकरे बृहन्मुम्बई महानगरपालिका के आयुक्त इकबाल सिंह चहल तथा वार्ड के अधिकारियों के साथ निरंतर संपर्क में हैं और यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देश जारी कर रहे हैं कि चक्रवात से कम से कम नुकसान हो।
उपमुख्यमंत्री अजीत पवार भी जिलाधिकारियों से बातचीत करके ठाणे, रायगढ़, पालघर, रत्नागिरि और सिंधुदुर्ग जिलों की स्थिति की समीक्षा कर रहे हैं। उनके कार्यालय से जारी बयान के अनुसार उन्होंने तूफान के पूरी तरह कमजोर पड़ जाने तक चौकसी बनाये रखने की अपील की है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार चक्रवात निसर्ग बुधवार को रायगढ़ जिले में अलीबाग के समीप महाराष्ट्र तट पर पहुंचा। उसने एक बयान में कहा कि इस तूफान का दाहिना हिस्सा महाराष्ट्र के तटीय क्षेत्र खासकर रायगढ़ जिले से गुजरेगा। वह क्रमिक रूप से अगले तीन घंटे में मुम्बई और ठाणे जिलों में कदम रखेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!