नए मतदेय स्थल बनाने के लिए डीएम ने मांगे प्रस्ताव

Spread the love

चमोली। जिले में नए मतदेय स्थलों के चयन को लेकर जिलाधिकारी, जिला निर्वाचन अधिकारी स्वाति भदौरिया ने राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से सुझाव प्रस्ताव मांगे। ये प्रस्ताव आयोग को भेजे जाएंगे और संशोधन की स्वीकृति मिलने पर ही नए मतदेय स्थल बनाए जाएंगे। निर्वाचन आयोग के मानकों के अनुसार 1500 से अधिक मतदाताओं वाले तथा क्षतिग्रस्त मतदेय स्थलों के स्थान पर नए मतदेय स्थल प्रस्तावित किए जाने है।
विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र थराली के अन्तर्गत तहसील घाट से तीन तथा थराली से दो मतदेय स्थलों के भवन परिवर्तन प्रस्तावित किए गए है। राइंका घाट मतदेय स्थल से कुन्तरी लगा फाली, कुन्तरी लगा सरपाणी व भैसवाड़ा चक सैंती को अलग करते हुए राप्रावि. भैसवाड़ा को नया मतदेय स्थल प्रस्तावित किया गया है। मतदेय स्थल राउमावि कुमजुग में मथकोट की दूरी 3 किमी से अधिक होने के कारण मथकोट के 485 मतदाओं के लिए पंचायत भवन मथकोट में नया मतदेय स्थल का प्रस्ताव रखा गया है। मतदेय स्थल राप्रावि स्यांरी-बंगाली से स्यांरी को अलग करते हुए राप्रावि स्यारी के नए मतदेय स्थल का प्रस्ताव तैयार किया गया है। थराली के अन्तर्गत मतदेय स्थल वन विश्राम गृह ग्वालदम में निर्वाचन के दौरान पर्यवेक्षक के विश्राम हेतु आरक्षित होने तथा पोलिंग पार्टी के विश्राम में कठिनाई होने के कारण मतदेय स्थल वन विश्राम गृह ग्वालदम (पूर्वी भाग) हेतु पंचायत भवन ग्वालदम एवं वन विश्राम गृह ग्वालदम (पंश्चिमी भाग) हेतु राप्रावि ग्वालदम नया मतदेय स्थल प्रस्तावित किया गया है। विधानसभा क्षेत्र कर्णप्रयाग के अन्तर्गत मतदेय स्थल राप्रावि नौटी का भवन पूरी तरह क्षतिग्रस्त होने के कारण राकहा स्कूल नौटी में नया मतदेय स्थल संशोधन का प्रस्ताव रखा गया है। बद्रीनाथ विधानसभा क्षेत्र में किसी भी मतदेय स्थल का संशोधन, परिवद्र्वन एवं पुर्नर्निधारण का तहसीलों से प्रस्तावित नहीं किया गया है। बैठक में भाजपा जिलाध्यक्ष रघुवीर सिंह बिष्ट ने मतदाताओं की सुविधा के लिए पैठाणी, पाडुली पंचायत भवन, गोपेश्वर लॉ कॉलेज तथा बंसत विहार में नए मतदेय स्थल बनाने का सुझाव दिया। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता रवीन्द्र सिंह ने बेमरू से मठ के मतदाताओं को अलग कर राप्रावि मठ को नया मतदेय स्थल बनाने का सुझाव रखा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!