पहाड़ों पर बर्फबारी, उत्तर भारत में शीत लहर, मौसम विभाग का अलर्ट जारी

Spread the love

नई दिल्ली, एजेंसी। शीतलहर के कारण मैदानों से लेकर पहाड़ों तक कड़ाके की ठंड चल रही है। उत्तर भारत के अधिकतर शहर शीत लहर की चपेट में हैं। दिल्ली-एनसीआर में 3़4 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान ने सर्दी का रिकर्ड तोड़ दिया है। मौसम विभाग के मुताबिक मैदानी राज्यों में ठंड जो सितम ढा रही है, उसकी मुख्य वजह पहाड़ों पर भारी बर्फबारी है।
उत्तरी भारत के ज्यादातर हिस्सों में औसत न्यूनतम तापमान 5 डिग्री सेल्सियस से नीचे रिकर्ड किया गया। तापमान में गिरावट के साथ कंपाने वाली सर्दी का प्रकोप बढ़ रहा है। दरअसल, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में जबरदस्त बर्फबारी हो रही है। मौसम विभाग के मुताबिक पहाड़ों पर जितनी बर्फबारी होगी, मैदानों में उतनी ही ठंड बढ़ेगी।
दिल्ली-एनसीआर में शनिवार को न्यूनतम तापमान 3़ 4 डिग्री रहा। वहीं इसने 10 साल का रिकर्ड भी तोड़ दिया। इससे पहले 2011 में 16 दिसंबर को न्यूनतम तापमान 5 डिग्री था। दिसंबर के आखिर तक दिल्ली का न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने का अनुमान है।
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (प्डक्) ने अगले सप्ताह तक ऐसी ही ठंड की स्थिति बने रहने का अनुमान जताया है। हालांकि, एक हफ्ते बाद कुछ राहत मिलने की उम्मीद की जा सकती है। मौसम विभाग ने कहा कि अगले सप्ताह उत्तर भारत में रात का तापमान (ज्मउचमतंजनतम) सामान्य से नीचे बना रहेगा। विभाग ने 24 से 30 दिसंबर तक के लिए अपने पूर्वानुमान में कहा कि उत्तर-पश्चिम, मध्य और पूर्वी भारत के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान सामान्य से 2-6 डिग्री सेल्सियस नीचे रहेगा।
मौसम विभाग के अनुसार 24 दिसंबर तक पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, पश्चिम उत्तर प्रदेश और उत्तरी राजस्थान में शीत लहर (ब्वसक ँअम) बढ़ जाएगी। बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी के कुछ हिस्सों में न्यूनतम तापमान तीन डिग्री पहुंच गया है। मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली में शीतलहर सोमवार तक जारी रह सकती है। अमृतसर में पारा 0़4 डिग्री सेल्सियस तक गिरने के साथ पंजाब-हरियाणा शीतलहर की चपेट में हैं।
मध्य प्रदेश में इन दिनों कड़ाके की ठंड पड़ रही है। दतिया में तो न्यूनतम तापमान 3 डिग्री तक पहुंच गया है। भोपाल मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक जीडी मिश्रा के मुताबिक मध्य प्रदेश के 23 वेदर स्टेशनों पर न्यूनतम तापमान 3 से लेकर 10 डिग्री के बीच रिकर्ड किया गया। इनमें से छह वेदर स्टेशन ऐसे हैं जहां न्यूनतम तापमान 5 डिग्री से नीचे रिकर्ड किया गया है। वहीं, मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में न्यूनतम तापमान 7़4 डिग्री रिकार्ड किया गया है।
कश्मीर में खून जमाने वाली ठंड से लोग कांप उठे हैं। शनिवार को श्रीनगर का न्यूनतम तापमान -6़6 और जम्मू का 3़3 डिग्री सेल्सियस रहा। पिछले सात दिनों से धुंध और कोहरे से कांप रहे लोगों को धूप के बाद मामूली राहत मिली पर अभी भी पूरे प्रदेश में तापमान सामान्य से नीचे है। कश्मीर में जल स्त्रोत जम चुके हैं। पिछले दस वर्षों के दौरान यह दूसरी बार है जब दिसंबर में श्रीनगर में न्यूनतम तापमान -6 डिग्री से नीचे चला गया है। इस सीजन की श्रीनगर में सर्द रात गुजरी। हिमाचल प्रदेश के केलंग, कल्पा, सुंदरनगर, भुंतर, सोलन, मंडी, चंबा और ऊना आदि स्थानों पर न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु से नीचे दर्ज किया गया। प्रदेश के अधिकतम तापमान में भी दो से तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई है। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले तीन दिन ऐसी ही कड़ाके की ठंड पड़ने के आसार हैं।
मौसम विभाग के उप निदेशक मुख्तार अहमद ने कहा कि 21 दिसंबर को पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के चलते वादी के उच्च पर्वतीय इलाकों में हलका हिमपात व बारिश हो सकती है जो 22 शाम तक रहेगा। 21 से वादी में 40 दिवसीय चिलेकलां शुरू हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!