पौड़ी की उपेक्षा पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा मुख्यमंत्री के काफिले को रोकने की कोशिश नाकाम

Spread the love

जिला योजना से निर्मित हुए पार्क का श्रेय लेने का लगाया आरोप
मुख्यमंत्री व स्थानीय विधायक के विरोध में की नारेबाजी, पुलिस को करनी पड़ी मशक्कत
जयन्त प्रतिनिधि।
पौड़ी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को पौड़ी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं का भारी विरोध झेलना पड़ा। कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आरोप था कि मुख्यमंत्री जिला योजना से निर्मित पार्क का श्रेय ले रहे हैं। जबकि पौड़ी में सड़कों व बस अड़्डे की स्थिति बुरी है। इसके अलावा जिला अस्पताल को भी निजी हाथों में सौंप दिया है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के काफिले को रोकने का प्रयास भी किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री व स्थानीय विधायक के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।


शुक्रवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का सुबह साढे़ नौ बजे ऑडिटोरियम में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक तय थी। जिसको देखते हुए कांग्रेस कार्यकर्ता एजेंसी चौक पर विरोध प्रदर्शन के लिए सुबह ही एकत्र हो गए थे। हालांकि इन्हें रोकने के लिए यहां प्रयाप्त संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था। एएसपी मनीषा जोशी व सीओ पीएल टम्टा, एसडीएम सदर एसएस राणा यहां मौजूद थे। कांग्रेस कार्यकर्ताओं के विरोध को देखते हए सर्किट हाउस से सीएम का काफिला करीब एक घंटे बाद यहां पहुंचा। सीएम के काफिले के यहां पहुंचते ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सीएम व स्थानीय विधायक मुकेश कोली के विरोध में नारेबाजी शुरू कर दी। कार्यकर्ता मुख्यमंत्री के काफिले को रोकने के लिए आगे बढे़। पुलिस ने कड़ी मशक्कत कर कांग्रेस कार्यकर्ताओं को रोका। इस दौरान पुलिस व कांग्रेस कार्यकर्ताओं की तीखी नोक झोक भी हुई। कांग्रेस प्रदेश सचिव सरिता नेगी, ब्लॉक प्रमुख पौड़ी दीपक कुकसाल, जिलाध्यक्ष कामेश्वर राणा, कमला रावत, नीलम रावत ने कहा कि भाजपा सरकार में पौड़ी की सबसे अधिक उपेक्षा हुई है। पौड़ी में सड़कों की स्थिति दयनीय बनी हुई है। मुख्यमंत्री इतने लाचार साबित हो रहे हैं कि मंडलीय अधिकारियों को पौड़ी में नहीं बैठा पा रहे हैं। स्थानीय विधायक पर कमीशन खोरी के आरोपों की आज तक कोई जांच नहीं हुई है। सरकार भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रही है। विरोध प्रदर्शन के दौरान पूर्व प्रमुख कोट नवल किशोर, जिला उपाध्यक्ष युवा कांग्रेस आशीष नेगी, एनएसयूआई प्रदेश सचिव मोहित सिंह, वीर प्रताप सिंह, गोपाल नेगी, सरोजनी, सतीश चंद्र, रेखा भंडारी, शशि चमोली, सूरज पंत,संजय कठैत आदि शामिल थे।

महिला जिलाध्यक्ष हुई बेहोश
विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस के साथ हुई धक्का-मुक्की में महिला कांग्रेस कमेटी की जिलाध्यक्ष कमला रावत अचानक बेहोश होकर गिर पड़ी। पुलिस ने उक्त नेत्री को उपचार के लिए अपने वाहन से जिला चिकित्सालय भेजा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!