पिता ने पुत्र की हत्या का लगाया आरोप, हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग की

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। पूर्वी झण्डीचौड़ निवासी नैन सिंह ने अपने पुत्र संदीप पंवार की हत्या की आशंका जताई है। उन्होंने उपजिलाधिकारी कोटद्वार को ज्ञापन सौंपकर कोटद्वार पुलिस को मामले की निष्पक्ष जांच कर हत्यारों को गिरफ्तार करने के लिए निर्देशित करने की मांग की। उन्होंने कहा कि मंडावली पुलिस का कहना है कि मामले की जांच कोटद्वार पुलिस को हस्तातंरित कर दी गई है।
बता दें कि पूर्वी झण्डीचौड़ निवासी 18 वर्षीय संदीप पंवार पुत्र नैन सिंह, हरपाल पुत्र केहर सिंह और राजेन्द्र सिंह पुत्र गोविन्द पाण्डे धनवर्षा स्टील प्लांट जशोधरपुर में एक साथ काम करते थे। विगत आठ सितम्बर को अन्य दिनों की भाांति ही तीनों दोपहर का लंच लेकर सुबह 10 बजे फैक्ट्री के लिए निकले, लेकिन तीनों फैक्ट्री के बजाय पैदल चौड़खाता थाना मंडावली जिला बिजनौर उत्तर प्रदेश के जंगल में चले गये थे। इस दौरान तीनों ने चौड़खाता गांव से कच्ची शराब खरीदकर बिजनौर वन प्रभाग के जंगल में चले गये थे। जहां उन्होंने कच्ची शराब पी थी। कच्ची शराब पीने के बाद संदीप पंवार की तबीयत खराब हो गई थी। हरपाल ने राजेन्द्र सिंह को यह कहकर गांव भेज दिया कि संदीप के परिजनों व गांव वालों को बताकर मदद के लिए बुलाने को कहा था। लेकिन राजेन्द्र ने गांव में किसी को भी कुछ नहीं बताया था और ना ही वापस गया। था। 9 सितम्बर को सुबह करीब 4-5 बजे संदीप की जंगल में ही मौत हो गई थी। जिसके बाद हरपाल गांव आया और गांव वालों/पुलिस को घटना के बारे में बताया था। सूचना पर चौकी प्रभारी कमलेश शर्मा पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे और थाना मंडावली पुलिस को सूचना दी थी। मंडावली थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचायतनामा भरकर तथा पीएम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया था।
पूर्वी झण्डीचौड़ निवासी नैन सिंह ने उपजिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि विगत आठ सितम्बर 2020 को मेरा संदीप पुत्र फैक्ट्री के लिए घर से निकला था, घर से उसे झण्डीचौड़ पश्चिमी निपवासी हरपाल व राजेन्द्र ले गये। जब सांय को उनका पुत्र घर नहीं आया तो वह उसकी तलाश में फैक्ट्री गये तो वहां पता चला कि संदीप, हरपाल और राजेन्द्र फैक्ट्री नहीं आये। सारी रात को वह अपने पुत्र को फोन करते रहे, लेकिन उसने फोन नहीं उठाया। 9 सितम्बर को हरपाल ने पार्षद सुशपाल शाह को बताया कि संदीप मृत अवस्था में उत्तर प्रदेश की सीमा में पड़ा हुआ है। पार्षद ने उन्हें सूचना दी। जब वह घटना स्थल पर पहुंचे तो संदीप मृत अवस्था में पड़ा हुआ था। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि पूर्व प्रधान ने उन पर मामले को रफा-दफा करने का दबाव बनाया गया, लेकिन उन्होंने पुलिस को घटना के बारे में बताया। नैन सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा कि उनके पुत्र की हरपाल और राजेन्द्र सिंह ने हत्या की है। जिसमें पूर्व प्रधान की भूमिका भी संदिग्ध है। उन्होंने मामले की निष्पक्ष जांच कर हत्यारों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!