राजनाथ सिंह ने एनएसए डोभाल, सीडीएस जनरल रावत और सेना प्रमुखों के साथ की बैठक

Spread the love

नई दिल्ली  । रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, सीडीएस जनरल बिपिन रावत और तीनों सेनाओं के प्रमुखों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर स्थिति और सुरक्षा को लेकर चर्चा की। इस बात की जानकारी सूत्रों ने दी है।
चीन के साथ सीमा विवाद के बीच एलएसी पर स्थिति और सुरक्षा को लेकर केंद्र सरकार पूरी तरह सजग है। राजनाथ सिंह लगातार सैन्य अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं। इसके अलावा सीमा पर तैनात जवानों की भी हौसला अफजाई की जा रही है।दो दिन पहले ही राजनाथ सिंह ने भारतीय नौसेना की जमकर तारीफ की थी। उन्होंने कहा था कि नौसेना की तैयारियों पर पूरा भरोसा है। भारतीय नौसेना किसी भी चुनौती का माकूल जवाब दे सकती है।
नौसेना के शीर्ष कमांडरों के तीन दिवसीय सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुएराजनाथ सिंह ने कहा था कि भारतीय नौसेना ने प्रमुख और संवेदनशील स्थानों पर जहाजों और विमानों को तैनात कर समुद्री हितों की रक्षा के लिए मिशन-आधारित तैनाती को प्रभावी ढंग से पूरा किया है। उल्लेखनीय है कि सीमा विवाद के बाद चीन को स्पष्ट संदेश देने के लिए भारतीय नौसेना ने हिंद महासगार क्षेत्र के अग्रिम मोर्चों पर युद्घपोतों और पनडुब्बियों की तैनाती की है।
बातचीत में भारतीय पक्ष द्वारा चीनी सैनिकों के जल्द पीटे हटने और पूर्वी लद्दाख के सभी इलाकों में पांच मई से पूर्व की स्थिति बहाल करने पर जोर दिया था। सेना से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, चीनी सेना गलवां घाटी और संघर्ष के कुछ स्थानों से पीटे हटी है लेकिन पेंगांग सो, गोग्रा और देपसांग के फिंगर इलाकों में सैनिकों के पीटे हटने की प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ी है।
गौरतलब है कि विदेश मंत्री एस जयशंकर ने 17 जून को अपने चीनी समकक्ष वांग यी के साथ टेलीफोन पर बातचीत की थी, जिसमें दोनों पक्षों ने सम्पूर्ण स्थिति से जिम्मेदार ढंग से निपटने पर सहमति व्यक्त की थी।वहीं, पांच जुलाई को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और चीन के विदेश मंत्री वांग यी द्वारा सीमा विवाद सुलझाने के रास्तों की तलाश के लिएकरीब दो घंटे तक टेलीफोन पर बातचीत हुई थी। डोभाल और वांग सीमा वार्ता के लिए विशेष प्रतिनिधि हैं।       एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!