उत्तराखण्ड पुलिस के हथियारों का जंक हटा, 11 साल बाद हुई बदमाशों से मुठभेड़, एक घायल महिला से लूट के बाद हो रहे थे फरार एक बदमाश के पैर में लगी गोली, बाकी की तलाश

Spread the love
  • हरिद्वार। हरिद्वार पुलिस ने लूट के मंसूबे लेकर जनपद में घुसे बदमाशों के इरादे नाकाम कर दिए.गंग नहर प्रभारी निरीक्षक एवं मंगलौर प्रभारी के नेतृत्व में बदमाशों को अपनी जान के लाले पड़ गए और आखिरकार उन्हें भागना पड़ा। घटना में एक बदमाश के पैर में गोली लगी है जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है।
    बता दे कि एक लंबे समय बाद उत्तराखंड में इस प्रकार की मुठभेड़ प्रकाश में आई है। 11 वर्ष पूर्व रणवीर मुठभेड़ के बाद से उत्तराखंड पुलिस बदमाशों पर हथियार चलाने से गुरेज कर रही थी लेकिन हरिद्वार पुलिस ने इस मिथक को तोड़ते हुए बदमाशों पर गोलियां चलाई और उनके आपराधिक मंसूबों को नाकाम कर दिया। फरार बदमाशों की तलाश जारी है और पुलिस का दावा है कि जल्द ही पूरे गिरोह को सलाखों के पीछे भेजा जाएगा।
    मिली जानकारी के अनुसार कल रविवार देर रात हरिद्वार पुलिस से हुई बदमाशों की मुठभेड मैं रेलवे रोड पर अभिलाषा हॉस्पिटल के सामने पूर्वा वाली गली गणेशपुर में अज्ञात बदमाशों द्वारा एक महिला से तमंचा दिखाकर मारपीट करते हुए सोने की चेन, कंगन लूटकर ले जाने की घटना पर कोतवाली गंगनहर पर लूट का मुकदमा दर्ज किया गया तथा उसी दिन उनके द्वारा देहरादून में भी एक आपराधिक घटना को अंजाम देने की पुष्टि हुई है।
    गंग नहर थाना प्रभारी अमरजीत सिंह वह मंगलौर प्रभारी के संयुक्त नेतृत्व में बदमाशों की तलाश का अभियान शुरू किया गया। घटना के बाद से पुलिस उक्त अभियुक्तगणों की सरगर्मी से तलाश सीसीटीवी फुटेज व अन्य माध्यमों के आधार पर की जा रही थी। इसी दौरान पता चला कि बदमाश हरिद्वार की तरफ आए हैं। अभियुक्तगणों की तलाश जारी रखते हुए कोतवाली मंगलौर के नारसन बॉर्डर पर सघन चैकिंग के दौरान अभियुक्तगणों की पहचान होने पर पुलिस ने बदमाशों को रुकने की चेतावनी दी तो वह पुलिस को देखकर उक्त अभियुक्तगण खेड़ा जट्ट की तरफ भागे, पीछा करने पर खेड़ा जट से नारसन कला खुर्द होते हुए महमदपुर नहर पटरी की तरफ गए तथा नहर पटरी से वापस मंगलौर की ओर आए और ग्राम तासीपुर की तरफ भागे।
    यहां भी पुलिस तब तक घेराबंदी कर चुकी थी लिहाजा हरिद्वार पुलिस की घेराबंदी से ताशीपुर से पाडली की तरफ भागे तथा पाडली की ओर से गंगनहर पुलिस भी आ गई दोनों तरफ से पुलिस से घिरा देख अभियुक्तगणों द्वारा पुलिस पार्टी पर फायरिंग शुरू कर दी गई जिसपर आत्मरक्षार्थ जवाबी फायरिंग में एक घायल हो गया तथा दूसरा मोटरसाइकिल से फरार हो गया।
    प्रभारी निरीक्षक गंग नहर अमरजीत सिंह ने बताया कि अभियुक्त से लूट का सारा माल बरामद हुआ तथा तमंचा मय जिंदा कारतूसों के बरामद हुआ। ये खबर लिखे जाने के दौरान कोतवाली मंगलौर में नियमानुसार वैधानिक कार्रवाई की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!