अल्मोड़ा में आशाओं ने विरोध जताया –

Spread the love

अल्मोड़ा। 18 हजार मानदेय दिए, लॉकडाउन भत्ता 10 दिए जाने सहित अन्य मांगों को लेकर शुक्रवार को आशा वर्कर ने अल्मोड़ा में विरोध जताया। गांधी पार्क में सरकार के खिलाफ विरोध जताते हुए एडीएम के माध्यम से सीएम को ज्ञापन भेजा। उन्होंने कहा कि जल्द उनकी मांग पूरी नहीं की गई तो वह आंदोलन तेज करेंगे। इस मौके पर आशा कार्यकत्रियों ने कहा कि कोरोना काल में आशा पूरे मनयोग से काम कर रही हैं। लेकिन उन्हें इसके बदले उचित सम्मान नहीं दिया जा रहा है। इसके साथ ही आशा वर्कर्स की सुरक्षा के लिए कोई उचित इंतजाम नहीं किए गए है। कोरोना संक्रमण के दौरान भी बिना मानदेय, बिना लॉकडाउन भत्ता, बिना कर्मचारी का दर्जा पाए आशाएं काम कर रही हैं। उन्होंने फैसिलेटर, को-ऑर्डिनेटर, आंगनबाड़ी व अन्य स्कीम वर्कर्स की भांति आशाओं को भी नियत मासिक मानदेय दिया जाने की मांग की। उन्होंने कहा कि आशाओं पर काम बोझ तो बढ़ता ही जा रहा है। लेकिन काम का मेहनताना देने के समय सरकार मुंह मोड़ रही है। उन्होंने जल्द मांगे पूरी नहीं होने पर अनिश्चित कालीन कार्यबहिष्कार की चेतावनी दी है। यहां ललिता, पूजा, मुन्नी देवी, रेखा बिष्ट, ममता बिष्ट, सरस्वती देवी, तारा चौहान, आशा, चंद्रावती भंडारी, अनीता बिष्ट, नंदी रौतेला, दुर्गेश्वरी, हेमा बिष्ट, हेमा बिष्ट, समेत कई आशा कार्यकत्री मौजूद रहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!