कांग्रेस ने एक माह खनन की सीमा बढ़ाने के विरोध में दिया धरना

Spread the love
सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन, राज्यपाल को भेजा ज्ञापन
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ताओं ने कोटद्वार भाबर की नदियों व नालों में रिवर चैनलाइजेशन के तहत खनन की सीमा बढ़ाने के विरोध में मालवीय उद्यान में धरना दिया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उन्होंने कहा कि अगर खनन की सीमा एक माह के लिए बढ़ाई जाती है तो कांग्रेस पार्टी सड़क पर उतरकर आंदोलन को बाध्य होगी। कार्यकर्ताओं ने इस संबंध में प्रदेश के राज्यपाल को ज्ञापन भेजा है।
जिला कांग्रेस कमेटी कोटद्वार के जिलाध्यक्ष डॉ. चन्द्रमोहन खरक्वाल के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मालवीय उद्यान में धरना प्रदर्शन किया। इसके बाद कार्यकर्ता जुलूस की शक्ल में प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए तहसील परिसर पहुंचे। जहां उपजिलाधिकारी के माध्यम से प्रदेश के राज्यपाल को ज्ञापन प्रेषित किया। जिलाध्यक्ष डॉ. चन्द्रमोहन खरक्वाल ने कहा कि पूरे देश में नियमानुसार रिवर चैनलाइजेशन के तहत 30 जून तक खनन होता है, लेकिन उत्तराखण्ड सरकार द्वारा 30 जून 2020 के पश्चात खनन की सीमा 15 दिन बढ़ा दिया गया। पुन: सरकार ने 15 दिन बढ़ाकर खनन की सीमा 31 जुलाई कर दी ही। ऐसा इतिहास में पहली बार हुआ है। उन्होंने कहा कि पुन: एक माह का समय बढ़ाकर 31 अगस्त तक खनन की सीमा बढ़ाई जा रही है। जो उचित नहीं है। जिलाध्यक्ष ने कहा कि पहले ही खोह, सुखरो नदी सहित गवालगढ़, सिगड्डी स्रोत में जेसीबी/पोकलैण्ड मशीनों से पहले ही नदियों में गहरे-गहरे गड्ढे खोदे गये है, वहीं सड़कें पूरी तरह से क्षतिग्रस्त, पेयजल लाइन टूट गई है, सिंचाई नहरें व गूल भी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है। खोह नदी में खनन के दौरान बनें गड्ढे में दो मासूम बच्चों की डूबने से मौत हो गई थी। उन्होंने कहा कि बाहरी प्रदेशों से आए खनन कारोबारियों द्वारा आए दिन मारपीट, धमकी दी जा रही है। जिस कारण लोग दहशत में है। उन्होंने प्रदेश के राज्यपाल से खनन की समयावधि 1 माह 31 अगस्त तक न बढ़ाने के लिए प्रदेश सरकार को आवश्यक निर्देश देने की मांग की है। प्रदर्शन करने वालों में जिलाध्यक्ष डॉ. चन्द्रमोहन खरक्वाल, विजय नारायर्ण ंसह, अर्जुन बिष्ट, नगर अध्यक्ष संजय मित्तल, महिला कांग्रेस नगर अध्यक्ष शकुन्तला चौहान, कृष्णा बहुगुणा, बलवीर्र ंसह रावत, विजय रावत, सूरज प्रसाद कांति पार्षद, देवेन्द्र सिंह नेगी, जितेन्द्र भाटिया, नीरज बहुगुणा, हेमचन्द्र पंवार, सूर्यमणि, सुनील थापा, दिव्यांश रावत, पवन रावत, राकेश शर्मा, तेजपाल पटवाल, पुष्कर सिंह नेगी, विनीता भारती, मीना बछवाण आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!