पौड़ी गढ़वाल के ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना ने तोड़ा रिकार्ड, 24 घंटे में मिले 500 से अधिक नये केस, 4 की मौत

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार।
जनपद पौड़ी गढ़वाल में बीतें चौबीस घंटे में बेस अस्पताल कोटद्वार में भर्ती एक, बेस अस्पताल श्रीकोट में भर्ती दो, बेस अस्पताल श्रीनगर में भर्ती एक कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है। जबकि कोरोना के 573 नये केस सामने आये है। जिसमें पोखड़ा ब्लॉक के 10, थलीसैंण ब्लॉक के नलई गांव के 9, मरगांव के 5, स्योली मल्ली के 15, पनाउ के 16, कठूड़ के 7, रिखोली के 5, यमकेश्वर के सार बंचूरी गांव के 10, कोटा के 12 लोग भी शामिल है। सीएमओ पौड़ी डॉ. मनोज शर्मा ने बताया कि बेस अस्पताल कोटद्वार में भर्ती सिगड्डी निवासी कोरोना संक्रमित 65 वर्षीय वृद्धा, बेस अस्पताल श्रीनगर में भर्ती पौड़ी निवासी 70 वर्षीय वृद्ध, बेस अस्पताल श्रीकोट में भर्ती 51 वर्षीय व्यक्ति और 56 वर्षीय व्यक्ति की उपचार के दौरान मौत हो गई है। अब तक जिले में 167 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है। सीएमओ ने बताया कि एक दिन में 628 कोरोना संक्रमित ठीक हुए है।

जनपद पौड़ी गढ़वाल के गांवों में कोरोना वायरस पैर पसार रहा है। अब ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। लेकिन इसके बावजूद भी लोग कोरोना जांच कराने के लिए स्वास्थ्य शिविरों में नहीं आ रहे है। ग्रामीणों में कोरोना का भय बना हुआ है। जनपद पौड़ी गढ़वाल के सीएमओ डॉ. मनोज कुमार शर्मा ने बताया कि पिछले 24 घंटे में बीरोंखाल ब्लॉक में एक, दुगड्डा में 111, द्वारीखाल में 25, एकेश्वर, जयहरीखाल में तीन-तीन, कल्जीखाल में दो, खिर्सू में 65, कोट में 47, नैनीडांडा में एक, पाबौ में 16, पौड़ी में 89, पोखड़ा में 42, रिखणीखाल में चार, थलीसैंण में 85, यमकेश्वर में 34, अन्य जिलों व राज्यों के 45 लोगों सहित 573 लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जबकि एक दिन में 628 कोरोना संक्रमित ठीक हुए है। सीएमओ डॉ. मनोज शर्मा ने बताया कि पौड़ी गढ़वाल में अब तक कोरोना वायरस से 14993 लोग संक्रमित हो चुके है। जिसमें से 10659 कोरोना संक्रमित ठीक हो चुके है। जिले में 4176 एक्टिव केस है। जिसमें पौड़ी गढ़वाल के 3047 और अन्य जिलों व राज्यों के 894 शामिल है। जबकि 235 लोगों ने स्वास्थ्य विभाग के पास गलत जानकारी दी है। जनपद में 2493 कोरोना संक्रमित होम आइसोलेशन में है। सभी कोरोना संक्रमितों को आइसोलेट किया गया है, उन्हें कोविड किट भी दी जा रही है। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमितों के संपर्क में आये लोगों को चिन्हित किया जा रहा है। चिन्हित लोगों की कोरोना जांच की जाएगी। सीएमओ ने लोगों से कोविड गाइड लाइन का पूरी तरह से पालन करने की अपील करते हुए कहा कि बहुत जरूरी होने पर मास्क पहनकर ही घर से बाहर निकले।

श्रीनगर कोविड अस्पताल में पांच लोगों की मौत
जयन्त प्रतिनिधि।
श्रीनगर। कोविड अस्पताल में 24 घंटे के अंदर 5 लोगों की मौत हो गई। इनमें 4 मरीज विभिन्न अस्पतालों से रेफर होकर कोविड अस्पताल आए थे। कोविड अस्पताल के पीआरओ अरुण बडोनी ने बताया कि बिडोली (पौड़ी) निवासी 70 वर्षीय वृद्ध की 19 मई की सुबह सस्पेक्टेड आईसीयू में मौत हो गई। वह 16 मई को जिला अस्पताल पौड़ी से रेफर हुए थे। चमोली के 72 वर्षीय वृद्ध की भी बुधवार सुबह मौत हो गई। वह सीएचसी कर्णप्रयाग से 13 मई को रेफर हुए थे। बौराड़ी (पौड़ी) के 51 वर्षीय की 18 मई की रात मौत हो गई। वह 18 को ही सीएचसी पौड़ी से रेफर होकर आया था। कंडी (पौड़ी) निवासी 56 वर्षीय व्यक्ति 18 मई को जिला अस्पताल रुद्रप्रयाग से रेफर होकर अस्पताल आया था। बुधवार सुबह उसने दम तोड़ दिया। कांडई (चमोली) निवासी के 36 वर्षीय युवक को 13 मई को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसने 18 मई को दम तोड़ दिया। बडोनी ने बताया कि 5 लोगों की कोविड आईसीयू में मृत्यु हुई है।

प्राचार्य ने टीम के साथ पूछा कोविड मरीजों का हालचाल
जयन्त प्रतिनिधि।
श्रीनगर।
राजकीय मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रो. सीएम रावत ने टीम के साथ कोविड अस्पताल का निरीक्षण किया। इस दौरान मनोचिकित्सक एवं मनो परामर्शदाता ने वार्ड में भर्ती मरीजों की काउंसिलिंग भी की।
जिला प्रभारी मंत्री विशन ंिसह चुफाल के दौरे से कुछ घंटे पहले मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रो. सीएम रावत, मनो चिकित्सक डा. मोहित सैनी, मनो परामर्शदाता और मेडिकल सामजिक कार्यकर्ता (एमएसडब्लू) अरुण बडोनी ने कोविड अस्पताल का निरीक्षण कर मरीजों का हालचाल पूछा। इस दौरान मरीजों से अस्पताल की सेवाओं का फीडबैक लिया गया। प्रो. रावत ने डॉक्टर एवं स्टाफ की ओर से की जा रही देखभाल, भोजन की गुणवत्ता व समय और साफ-सफाई के बारे में पूछा। इस दौरान एक मरीज ने शिकायत की कि बाथरुम में पानी टपक रहा है। जिसे प्राचार्य ने तत्काल ठीक करने के निर्देश दिए। प्राचार्य ने सामान्य मरीजों को फेफड़े मजबूत करने के लिए प्राणायम करने की सलाह दी। मनोचिकित्सक डा. सैनी और परामदर्शदाता नीतू ने मरीजों की मनोस्थिति जानी। उन्होंने कहा कि मरीज मन में सकारात्मक विचार लाए। मानसिक स्वास्थ्य को ठीक रखे। इससे वह जल्द से जल्द स्वस्थ होंगे। एमएसडब्लू बडोनी ने मरीजों से कोविड गाइडलाइन का पालन करने का अनुरोध किया। मरीज स्वस्थ होकर घर जाने पर भी नियमों का पालन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!