अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया को लेकर पूर्व सैनिकों का प्रदर्शन

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

पिथौरागढ़। पूर्व सैनिकों ने अग्निवीर भर्ती प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा निमयों के खिलाफ भर्ती में शामिल युवाओं के 10 वीं के वैकल्पिक विषय के अंकों को कुल प्रतिशत में जोड़कर उन्हें बाहर कर दिया गया है, जो उनके हितों की अनदेखी है। जबकि इस तरह का नियम डायरेक्टर जनरल अफ रिक्रूटिंग सेंटर की विज्ञप्ति में नहीं है। ऐसा कर युवाओं को भर्ती से बाहर करने का रास्ता अपनाया गया है। सोमवार को संगठन के उपाध्यक्ष मयूख भट्ट के नेतृत्व में पूर्व सैनिक कलक्ट्रेट पहुंचे और प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा बीसी जोशी स्कूल में अग्निवीर भर्ती चल रही है, जिसमें पिथौरागढ़, चम्पावत के युवा भर्ती होने की उम्मीद में बढ़ी संख्या में यहां पहुंच रहे हैं। लेकिन कई युवाओं को 10 वीं के वैकल्पिक विषय के अंकों को कुल प्रतिशत में जोड़कर उन्हें अयोग्य घोषित कर दिया गया है, जो नियमों के साथ ही उनके हितों की अनदेखी है। जबकि वैकल्पिक विषय के अंकों को कुल प्रतिशत में न जोड़ने का विवरण हर अंक पत्र के पृष्ठ भाग में साफ अंकित है। इस कारण युवाओं को अयोग्य घोषित करना डायरेक्टर जनरल अफ रिक्रूटिंग सेंटर से प्रकाशित विज्ञप्ति में प्रकाशित नहीं है। सेना भर्ती कार्यालय के अधिकारी जबरन नियमों को थोपकर युवाओं को भर्ती से बाहर कर रहे हैं, जिससे युवा निराश व मायूस हैं। कहा सरकार ने अधिकतर युवाओं को रोजगार देने के उद्देश्य से अग्निवीर भर्ती संचालित की है। लेकिन सेना के अधिकारी युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं, जिसे किसी भी कीमत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके बाद पूर्व सैनिकों ने इस पर कार्रवाई करने की मांग पर डीएम को ज्ञापन भी दिया। चेतावनी देते हुए कहा सेना के अधिकारियों ने अपनी कार्यशैली नहीं बदली तो वे युवाओं के साथ सड़कों पर उतरेंगे।
ये रहे शामिलरू सूबेदार मेजर(सेवानिवृत्त) रमेश सिंह, विक्रम सिंह, देव सिंह भाटिया, दिवाकर सिंह, गिरधर सिंह, राजेंद्र जोशी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!