दो नाबालिगों की शादी होने से रोकी

Spread the love

बागेश्वर। गरुड़ ब्लाक में वन स्टाप सेंटर की सजगता से दो नाबालिगों की शादी होने से रुक गई। सेंटर ने अभिभावकों से लिखित शपथपत्र भी लिया है। अब तक ओएससी की सजगता से जिले में पांच नाबालिगों की शादी रुकवा दी गई है। शनिवार को वन स्टाप सेंटर को सूचना मिली की गरुड़ ब्लाक के एक लमचूला गांव में नाबालिग की शादी होने जा रही है। जिस पर वन स्टाफ सेंटर, महिला सशक्ति केंद्र व राजस्व उपनिरीक्षक की टीम मौके पर पहुंची। जानकारी लेने पर पता चला कि लड़की बालिग नहीं हुई है, जिसके बाद उन्होंने वर-वधु पक्ष से बाचतीत कर उन्हें जागरूक किया। इसके बाद अभिभावकों ने बालिग होने पर ही अपनी लड़की की शादी करने का लिखित शपथपत्र भी दिया। इसी गांव में एक और नाबालिग की शादी फरवरी माह में होने जा रही थी। जिसे वन स्टाप सेंटर ने अभिभावकों को समझा कर शादी रुकवाई। अब तक जिले में पांचवीं नाबालिग की शादी होने से रोकी गई है। अभी भी पिछड़े गरीब इलाकों में लोग अपनी नाबालिगों की शादी कर रहे हैं। यह व्यापक पैमाने में हो रहा है। जहां जानकारी मिल रही वहां शादी रोकी जा रही है और जागरूक किया जा रहा है। इस अवसर पर अधिवक्ता अंजू पांडेय, केस वर्कर जया पांडेय, महिला शक्ति केंद्र से जिला समन्वयक मनीषा जोशी आदि मौजूद थे।
जहां-जहां सूचना मिल रही है वहां कार्रवाई की जा रही है। इसके अलावा जन जागरूक भी किया जा रहा है। पिछड़ापन, गरीबी और अशिक्षा इसका मुख्य कारण है। आगे भी अभियान जारी रहेगा -षष्टी कांडपाल, प्रबंधक, वन स्टाप सेंटर, बागेश्वर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!