चकराता में फटा बादल, मलबे में तीन बच्चियों सहित तीन लोग और मवेसी बहे, एक शव बरामद

Spread the love

देहरादून। भारत के तटीय इलाकों के बाद उत्तराखंड में भी ताउते का असर देखने को मिल रहा है। ताउते के मद्देनजर बुधवार और गुरुवार को उत्तराखंड में रेड अलर्ट जारी किया गया है। जिसके तहत पूरे राज्य में लगातार बारिस और बादल फट रहें हैं।
देहरादून जिले के चकराता तहसील में बादल फटने की घटना सामने आई है। जिसमें तीन लोगों और कई जानवरों के बहने की सूचना है। जिसमें से एक व्यक्ति का शव बरामद कर लिया गया है। दो लड़कियां अभी भी लापता हैं।
जानकारी के मुताबिक देहरादून जिले के जौनसार बाबर के क्वासी क्षेत्र में बिजनाड खड्ड नामक स्थान पर बादल फटने की घटना में तीन लोगों के गायब हो गए। इस घटना में कुछ पशुओं के भी बह जाने की सूचना है।
प्रारंभिक तौर पर प्राप्त जानकारी के अनुसार तहसील चकराता के क्वासी क्षेत्र के बिजनाड खड्ड में गुरुवार की की सुबह लगभग 8:30 बजे बादल फटने से तेज वर्षा हुई। जिससे पानी व मलबे की चपेट में आकर तीन लोग बह गए। कुछ पशु भी गायब बताए जा रहे हैं।

उप जिलाधिकारी कालसी चकराता संगीता कनौजिया ने बताया कि तहसीलदार चकराता, पुलिस, एनडीआरएफ की टीम, स्वास्थ्य विभाग की टीम एंबुलेंस मौके पर है हैं। वे स्वयं भी मौके पर जा रही हैं। मृतक में मुना (32 वर्ष) व लापता में काजल (13 वर्ष) व साक्षी (13 वर्ष) बताए गये हैं।
इसके अलावा बदरीनाथ हाईवे पर लामबगड़ नाले में उफान आने एक ट्रक फंस गया है। यहां पर हाईवे 50 मीटर क्षतिग्रस्त हो गया है। बारिस से पिथौरागढ़ और बागेश्वर जिले की सीमा पर स्थित नाचनी कस्बे में पैदल पुल बह गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!