देश-विदेश

असम में बाढ़ ने मचाई तबाही, अब तक 62 लोगों की मौत, 24 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

-गृह मंत्री अमित शाह ने सीएम से की बात
गुवाहाटी, पूर्वोत्तर के राज्यों में इनदिनों भारी बारिश के चलते जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. वहीं भारी बारिश के बाद असम में बाढ़ आ गई है. जिसके चलते राज्य में कई लोगों की मौत हो गई है. वहीं 24 लाख से ज्यादा लोग इस बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा से बात की साथ ही मदद का भरोसा दिलाया. शाह लोगों को विश्वास दिलाया कि राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल युद्ध स्तर पर काम कर रहे हैं. गृह मंत्री शाह ने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बाढ़ प्रभावित राज्य को हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.
गृह मंत्री अमित शाह ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर एक ट्वीट किया. गृह मंत्री ने लिखा, भारी बारिश के कारण, असम में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है, मौजूदा स्थिति के बारे में असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा से बीत की. एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम युद्ध स्तर पर काम कर रही हैं और पीडि़तों को राहत पहुंचा रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी असम के लोगों के साथ मजबूती से खड़े हुए हैं, और इस चुनौतीपूर्ण समय में राज्य को हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.
बता दें मानसून आने के बाद पूर्वोत्तर के साथ असम में भी भारी बारिश का दौर जारी है. जिसके चलते असम में बाढ़ आ गई है. इस बाढ़ में कई लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि बुनियादी ढांचे को व्यापक नुकसान हुआ है. कई सडक़ें बंद हो गईं हैं और हजारों एकड़ फसल नष्ट हो गई है. इस बाढ़ में पशुधन की भी हानि हुई है. बाढ़ के चलते सैकड़ों लोग बेघर हो गए हैं. राज्य के 30 जिलों में 24 लाख 20 हजार से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं. सबसे ज्यादा धुबरी जिले में 775,721 लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. बाढ़ से 63,490.97 हेक्टेयर फसल क्षेत्र डूब गया है. जबकि 112 राजस्व मंडलों के तहत 3,518 गांव बाढ़ से प्रभावित हुए हैं.
राज्य में बाढ़ के चलते अब तक 62 लोगों की मौत हुई है. जबकि 92 जानवर भी बाढ़ में मारे गए हैं. आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, काजीरंगा नेशनल पार्क, बोकाखाट में शनिवार को कुल 95 जानवरों को बचाया गया है. राज्य में ब्रह्मपुत्र नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर बना हुआ है. राज्य के नेमाटीघाट, गुवाहाटी, गोलपारा और धुबरी में भी ब्रह्मपुत्र खतरे के निशान से ऊपर बह रही है.
००

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!