गरीब परिवारों की बेटियों तक पहुंचे योजनाओं का लाभ : डीएम 

Spread the love

बागेश्वर। डीएम रंजना राजगुरु ने रेखीय विभागों के अधिकारियों से आपसी समन्वय बनाकर काम करने के निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि गरीब परिवार की बेटियों को योजनाओं का लाभ देने और उन्हें गुणवत्तायुक्त शिक्षा देने की पहल करें।
यह निर्देश उन्होंने जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिए। इस दौरान महिला एवं बाल विकास
द्वारा संचालित योजनाओं की गतिविधियों के संबंध में तैयार पुस्तक का विमोचन किया।कलक्ट्रेट सभागार में डीएम ने
कहा कि बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण योजना है। इसके धरातलीय क्रियान्वयन के माध्यम से ही
समाज में व्याप्त विविधिकरण को कम से कम किया जा सकता है। उन्होंने जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिए कि
आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों, सुपरवाइजरों आदि के माध्यम से यह अनिवार्य रूप से सुनिश्चित किया जाय कि गरीब परिवार
की बालिकायें भी शिक्षा, तकनीकी आदि के क्षेत्र में गुणवत्तायुक्त शिक्षा प्राप्त कर नवीन ऊंचाइयों को प्राप्त कर सके, जिसमें
धनाभाव किसी भी रूप में आड़े नहीं आने दिया जाय। उन्होंने कहा कि वर्तमान कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत
बालिकाओं, महिलाओं आदि को कोरोना वायरस से बचाव जागरूक करने पर जोर दिया। बाहर से आने वाले प्रवासियों
परिवारों की छात्राओं एवं गर्भवती महिलाओं आदि के संबंध में भी विस्तारपूर्वक डाटा तैयार करने को कहा। हर माह बांटे
जाने वाले टीएचआर के लिए आंगनबाडी कार्यकत्रियों को फेस कवर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। बैठक में जिला
कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास राजेंद्र बिष्ट ने बताया तीनों ब्लॉकों में चिकित्सा विभाग के माध्यम से कोरोना वायरस
संक्रमण से बचाव को वैष्णविक किट का वितरण किया गया है। बैठक में जिला विकास अधिकारी केएन तिवारी,
उपजिलाधिकारी बागेश्वर राकेश चन्द्र तिवारी, गरुड़ जयवर्द्धन शर्मा, कपकोट प्रमोद कुमार, कांडा योगेन्द्र सिंह, पुलिस
उपाधीक्षक संगीता, अपर परियोजना निदेशक शिल्पी पंत आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!