ग्रामीणों ने सरकार को दिखाया आइना: विभाग 18 साल में नहीं बना पाया 7 किमी. सड़क, ग्रामीणों ने एक माह में बनाई

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। जयरीखाल ब्लॉक के अन्तर्गत ग्राम सभा मठाली के प्रवासियोें की पहल को ग्रामीणों ने सहयोग से परवान चढ़ाया गया। एक महीने की कड़ी मेहनत के बाद ग्रामीणों ने एक किमी. सड़क खोदकर गांव तक पहुंचा दी। जिस पर ग्रामीणों ने एक-दूसरे को माला पहनाकर खुशी जताई। ग्रामीणों ने गांव तक सड़क पहुंचाकर सरकार और लोक निर्माण विभाग को आईना दिखाने का काम किया है। जहां लोक निर्माण विभाग 18 वर्षों में सात किमी. सड़क नहीं खोद पाया, वहीं प्रवासियों व ग्रामीणों ने एक माह में एक किमी. सड़क खोद डाली। ग्रामीणों के इस कार्य की सभी सराहना कर रहे है।
वर्ष 2002 में 12 किलोमीटर स्वीकृत घांघली-संदणा-मठाली मोटर मार्ग स्वीकृत हुआ था। विभाग और शासन की लापरवाही से 18 वर्ष बीत जाने के बाद भी मार्ग निर्माण पूरा नहीं हो पाया। इस मोटर मार्ग का निर्माण कार्य 2002 में घांघली गांव की तरफ से आरम्भ किया गया था और मठाली गांव से 01 किलोमीटर आगे राजकीय इण्टर कॉलेज मठाली (खैणी) तक होना है। 18 वर्षों में जब सड़क निर्माण का कार्य एक छोर से दूसरे छोर तक नहीं पहुंच पाया तो आक्रोशित प्रवासी बेरोजगारों की मदद से ग्रामीणों ने खुद ही सड़क कटान का कार्य करना शुरू किया। इसके लिये प्रवासियों और ग्रामीणों ने पैसे जमा किये। युवक मंगल दल के नेतृत्व में सभी ने श्रमदान करके खुदाई का कार्य किया। बीच में जेसीबी मशीन से भी कटान किया। प्रवासियों की पहल व रैवासी ग्रामीणों के सहयोग से एक महीने में 1 किलामीटर सड़क खोदकर अपने गांव मठाली तक पहुंचा दी। कटान कार्य विभागीय सर्वे पर ही किया गया।
जनसेवा मंच लैंसडौन के संयोजक मनोज दास ने बताया कि मठाली गांव तक पहुुंचने के लिए करीब एक किमी. पैदल चलना पड़ता है। लॉकडाउन के दौरान गांव में देश के विभिन्न शहरों में रह रहे प्रवासी घर लौटे। इन प्रवासियों ने अपने गांव को सड़क मार्ग से जोड़ने की ठानी। इसके लिए सभी लोगों ने आपसी सहयोग से धनराशि एकत्र की। एक माह पूर्व प्रवासियों ने ग्रामीणों के साथ मिल कर सड़क निर्माण के लिए श्रमदान शुरू किया। करीब 30 दिन की कड़ी मेहनत के बाद ग्रामीण एक किमी. सड़क बनाने में सफल रहे। उन्होंने कहा कि प्रवासियों की पहल ने गांव की तस्वीर बदल दी है। महामारी के इस दौर में प्रवासियों ने गांव को सड़क की सौगात दी है। (फोटो संलग्न है)

बॉक्स समाचार
टेण्डर निरस्त करने की मांग की
जनसेवा मंच लैंसडौन के संयोजक मनोज दास, सामाजिक कार्यकर्ता संतूदास, मनवर सिंह, मदन नेगी, दीनदयाल सिंह ने प्रदेश सरकार से प्रवासी द्वारा खोदी गई एक किमी. सड़क का टेण्टर तत्काल निरस्त करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि कटान कार्य का सर्वे कराकर ग्रमीणों की मेहनत और सड़क कटान पर व्यय धनराशि ग्रामीणों को दिलाई जाय। उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री से लोक निर्माण विभाग लैंसडौन और दुगड्डा को कार्यवाही करने हेतु निर्देशित करने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!