कोटद्वार खूनीबड़ में रोडवेज डिपो कार्यशाला को आज भी इंतजार है स्वीकृत 50 लाख का

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। उत्तराखण्ड परिवहन निगम के कोटद्वार डिपो की कार्यशाला निर्माण के लिए अभी भी शासन द्वारा स्वीकृत पचास रूपये की धनराशि मिलने का इंतजार है। प्रदेश परिवहन मंत्री ने दिसम्बर 2019 में कार्यशाला निर्माण के लिए पचास लाख रूपये 15 दिन में जारी करने की घोषणा की थी, लेकिन अभी तक उक्त धनराशि जारी नहीं हो पाई है, जिस कारण अभी तक कार्यशाला का निर्माण शुरू नहीं हो पाया है। डिपो प्रशासन की मांग पर शासन ने वर्ष 2010 में डिपो की कार्यशाला के लिए खूनीबड़ में 0.265 हेक्टेयर भूमि चयनित की थी, लेकिन अभी तक कार्यशाला का निर्माण शुरू तक नहीं हो पाया है। जिस कारण कोटद्वार डिपो की स्टेशन रोड स्थित कार्यशाला से ही बसों का संचालन हो रहा है।
उत्तराखंड परिवहन निगम के कोटद्वार डिपो का अपना बस अड्डा नहीं होने के कारण स्टेशन रोड स्थित कार्यशाला से ही बसों का संचालन होता आ रहा है। कार्यशाला में बसों को खड़ा करने के लिए पर्याप्त जगह नहीं होने के कारण बसों का संचालन स्टेशन रोड से ही होता आ रहा है। वर्ष 2010 में तत्कालीन मुख्यमंत्री भुवनचंद्र खंडूड़ी के निर्देश पर कोटद्वार डिपो की कार्यशाला के लिए यहां खूनीबड़ में 0.265 हेक्टेयर भूमि चयनित की गई थी, लेकिन तब से कार्यशाला के निर्माण का मामला अधर में ही लटका रहा। वर्ष 2012 में कांग्रेस सत्तासीन हुई और तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भी कार्यशाला के निर्माण को स्वीकृति प्रदान की, लेकिन बस अड्डे के आधुनिकीकरण का प्रस्ताव धरातल पर नहीं उतरा। वर्ष 2017 में विधानसभा चुनाव के बाद तीन जून 2017 को कोटद्वार आगमन के दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने एक बार फिर कार्यशाला के निर्माण को अपने घोषणा पत्र में शामिल किया, लेकिन तीन साल बाद भी समस्या हल नहीं हुई। वहीं दिसम्बर 2019 में प्रदेश के परिवहन मंत्री यशपाल आर्य ने शशिधर भट्ट राजकीय स्पोर्टस स्टेडियम में गढ़वाल कप के उदघाटन समारोह में कार्यशाला निर्माण के लिए 15 दिन के अंदर 50 लाख रूपये जारी करने की घोषणा की थी, लेकिन अभी तक धनराशि जारी नहीं हो पाई है।
उत्तराखंड परिवहन निगम के कोटद्वार डिपो का अपना बस अड्डा नहीं होने के कारण बसों के संचालन में दिक्कतें आ रही है। स्थिति यह है कि जहां कुछ बसें स्टेशन रोड पर ही खड़ी रहती है और यही से सवारियां बैठायी जाती है, वहीं कुछ बसों का संचालन कार्यशाला से ही करना पड़ रहा है। स्थानीय विधायक एवं प्रदेश के काबीना मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने बताया कि खूनीबड़ में कार्यशाला निर्माण के लिए 50 लाख रूपये स्वीकृत कर दिये है। जल्द ही कार्यशाला का निर्माण कार्य शुरू कराया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!