कोटद्वार में 10 दिनों में 7 लोगों ने दी जान, संदिग्ध परिस्थितियों में दो और मौत

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। कोटद्वार नगर निगम क्षेत्र में दो व्यक्तियों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। पुलिस ने शवों का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया है। पिछले दस दिन में सात लोग आत्महत्या कर चुके है। यह समाज के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। लगातार हो रही इस प्रकार की घटनाओं पर बुंद्धिजीवियों ने चिंता जताई है।
कोटद्वार कोतवाली के एसएसआई प्रदीप नेगी ने बताया कि आमपड़ाव इन्द्रानगर निवासी 42 वर्षीय सुरेन्द्र सिंह पुत्र बच्चीराम ऑटो चलाता है। उसकी पत्नी पार्वती देवी के अलावा दो पुत्र व एक पुत्री है। सुरेन्द्र शराब का आदी था और उसकी पत्नी बच्चों के साथ किराये के मकान में रहती है। वह अपने मकान में रहता है। बीती मंगलवार रात को खाना खाने के बाद कमरे में सोने गया। सुबह वह जब काफी देर तक उठकर बाहर नहीं आया तो बड़े भाई कमलराम ने दरवाजा खटखटाया तो अंदर से कोई जवाब नहीं आया। जब उन्होंने खिड़की से कमरे के अंदर देखा तो वहां सुरेन्द्र सिंह छत पर लगे हुक पर रस्सी के सहारे लटक रहा था। परिजनों ने घटना के बारे में कोतवाली पुलिस को सूचना दी। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस। पुलिस ने सुरेन्द्र सिंह को लेकर राजकीय बेस अस्पताल पहुंची, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। एसएसआई प्रदीप नेगी ने बताया कि मृतक के शव का पंचायतनामा भरकर तथा पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है।
एसएसआई प्रदीप नेगी ने बताया कि मानपुर कलालघाटी निवासी 85 वर्षीय चक्रधर प्रसाद कुकरेती पुत्र जनार्दन प्रसाद ने बीती शनिवार रात अपनी दवाई समझकर गलती से किसी अन्य दवाई का सेवन कर लिया। हालत बिगड़ने पर परिजन उन्हें राजकीय बेस अस्पताल कोटद्वार ले आये। जहां उपचार के दौरान उनकी मृत्यु हो गई। अस्पताल प्रशासन ने घटना की सूचना कोतवाली पुलिस को दी। सूचना पर पुलिस अस्पताल पहुंची। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचायतनामा भरकर तथा पीएम कराने के बाद शव परिजनों के सुर्पद कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!