कोटद्वार में कांग्रेस ने मंहगाई, बेरोजगारी को लेकर प्रदेश सरकार की निकाली अर्थी

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों, भ्रष्टाचार, बढ़ती बलात्कार की घटनाओं, बेरोजगारी को लेकर सरकार की अर्थी निकाली। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कार्यकर्ताओं ने 9 सूत्रीय मांगों को लेकर उपजिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजा।
कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. चन्द्रमोहन खर्कवाल के नेतृत्व में गढ़वाल टाकीज स्थित कार्यालय से कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदेश सरकार की अर्थी को लेकर झंडाचौक, बदरीनाथ मार्ग हुए तहसील परिसर पहुंचे। जहां कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने कहा कि श्रम विभाग में 430 करोड़ रूपये का घोटाला किया गया है। कर्मकार बोर्ड के अध्यक्ष पद से श्रम मंत्री को हटाने तक की कार्यवाही प्रदेश सरकार की घोटाले में संलिप्तता को प्रदर्शित करता है। कर्मकार बोर्ड ने ईएसआई चिकित्सालय के नाम पर 20 करोड़ रूपये की अनियमितता की है। सरकार को इसकी जांच करनी चाहिए।  उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में स्वीकृत मेडिकल कॉलेज, केन्द्रीय विद्यालय, रामनगर-कोटद्वार-चिल्लरखाल मोटर मार्ग, कण्वाश्रम पर्यटन स्थल सहित अन्य विकास कार्यों पर रोक लगा दी गई है। जनहित में पूर्व स्वीकृत विकास कार्यों को पुन: प्रारम्भ किया जाय। उन्होंने कहा कि जहां नगर निगम कोटद्वार क्षेत्र मूलभूत सुविधाओं से वंचित है, वहीं जिला विकास प्राधिकरण लागू होने से गरीब को घर बनाने में भारी दिक्कतों को सामना करना पड़ रहा है। जनहित में तत्काल जिला विकास प्राधिकरण को समाप्त किया जाय।
कार्यकर्ताओं ने कहा कि कोटद्वार नगर निगम में सरकार की उदासीनता के चलते कूड़ा निस्तारण के लिए ट्रेचिंग ग्राउण्ड के अभाव के कारण कूड़ा निस्तारण एक बड़ी समस्या बन गई है। पूर्व में नगर पालिका के 11 वार्डों का कूडा जिस स्थल पर फेंका जाता था वहां अब निगम के 40 वार्डों का कूड़ा फेंका जा रहा है। इस ज्वलंत समस्या के समाधान के लिए सरकार द्वारा तत्काल भूमि उपलब्ध कराना अत्यन्त आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जहां प्रदेश में बेरोजगारी चरम पर है। वहीं मंहगाई के कारण जनता त्रस्त है। कोटद्वार नगर निगम क्षेत्रातंर्गत आवारा पशुओं से निजात दिलाने के लिए सरकार आवश्यक व्यवस्थाएं करें। गौ सदन के निर्माण के साथ ही पशुओं के लिए चारापत्ती, केयर टेकर, पेयजल एवं चिकित्सा सुविधा की व्यवस्था करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि टाइगर सफारी का संचालन पाखरो की बजाय पूर्व निर्धारित व्यवस्था के अनुसार सनेह से किया जाय। पूर्व में इसी उद्देश्य से यात्रियों के लिए ग्रास्टनगंज में हैलीपैड बनाया गया था। प्रदर्शन करने वालों में कांग्रेस महानगर अध्यक्ष संजय मित्तल, पूर्व राज्यमंत्री विजय नारायण सिंह, बलवीर सिंह रावत, हेमचन्द्र पंवार, सुनीता बिष्ट, महावीर्र ंसह रावत, शंकेश्वर प्रसाद सेमवाल, अमित राज सिंह, विजय रावत आदि शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!