लालजी टंडन के निधन पर उत्तराखंड की राज्यपाल व मुख्यमंत्री शोकाकुल

Spread the love

देहरादून। मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन के निधन पर उत्तराखंड की राज्यपाल बेबीरानी मौर्य, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और अन्य वरिष्ठ नेताओं ने शोक व्यक्त किया है। उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने लालजी टंडन के निधन पर शोक व्यक्त किया है। राज्यपाल मौर्य ने अपने संदेश में कहा है किमध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन के निधन का समाचार पाकर अत्यंत दुख हुआ। स्व. टंडन एक लोकप्रिय जनप्रतिनिधि, कुशल प्रशासक और संवेदनशील समाजसेवी थे। उनके निधन से राष्ट्र और समाज को अपूरणीय क्षति पहुंची है। प्रभु उन्हें अपने चरणों में स्थान दें और परिजनों को इस दु:ख को सहने की क्षमता प्रदान करें। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के लालजी टंडन जी के निधन पर शोक व्यक्त किया। कहा है किस्वर्गीय लालजी टंडन का पूरा जीवन जनसेवा को समर्पित रहा। वे राजनीति के एक स्तम्भ थे। वे कुशल प्रशासक और राजनेता थे। उन्होंने भाजपा को ऊंचाईयों तक पहुंचाने में अहम योगदान दिया। उनकी सेवाओं को हमेशा याद रखा जाएगा। ईश्वर, दिवंगत आत्मा को शांति व शोक संतप्त परिवार जनों को धैर्य प्रदान करे। उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया। विधानसभा अध्यक्ष ने अपने शोक संदेश में कहा कि लालजी टंडन के निधन के चलते देश ने एक लोकप्रिय नेता, योग्य प्रशासक और प्रखर समाजसेवी को खोया है। लालजी टंडन को समाज की सेवा के उनके अथक प्रयासों के लिए एवं उत्तर प्रदेश की एक कद्दावर शख्सियत के रूप में हमेशा याद किया जाएगा। मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का लखनऊ के एक निजी अस्पताल में आकस्मिक निधन हो गया। वह 85 वर्ष के थे। तबियत खराब होने के बाद उन्हें 11 जून को मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें सांस की दिक्कत, पेशाब में परेशानी और बुखार था। चिकित्सकों ने उनका सी.टी गाइडेड प्रोसीजर किया था लेकिन उनके पेट में रक्तस्राव हो गया। साथ ही फेफड़े, किडनी और लीवर में दिक्कत बढ़ने पर वेंटीलेटर पर रखा गया लेकिन चिकित्सकों के अथक प्रयास के बावजूद उन्हें बचाया नहीं जा सका। मंगलवार सुबह उन्होंने 5.35 पर अंतिम सांस ली। उनकी मृत्यु की जानकारी उनके ज्येष्ठ पुत्र और प्रदेश सरकार में मंत्री आशुतोष टंडन गोपाल ने ट्वीट कर दी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!