पाकिस्तान की बैट भारत-पाक बर्डर पर कर सकती है आतंकियों की मदद

Spread the love

नई दिल्ली, एजेंसी। जम्मू कश्मीर में आतंकियों के घुसपैठ की खुफिया रिपोर्ट के बाद भारत-पाकिस्तान सीमा पर हाई अलर्ट कर दिया गया है। इंटेलिजेंस रिपोर्ट के अनुसार, भीम्बर गली और नौशेरा सेक्टर्स में आतंकियों की मौजूद्गी हो सकती है और इनकी घुसपैठ के लिए पाकिस्तान की बैट (बर्डर एक्शन टीम) मदद कर सकती है। खुफिया सूत्रों ने बताया कि इनपुट्स को सुरक्षबलों और बीएसएफ के साथ साझा किया गया है ताकि वे इन इलाकों में गतिविधियों पर करीबी नजर रख पाएं। सुरक्षाबलों को अंदेशा है कि पाकिस्तानी सेना के बैट की तरफ से जल्द ही आतंकियों की घुसपैठ के लिए पूरी मदद कराई जा रही है। भारत की तरफ भी आतंकियों में हलचल तेज हो गई है।
पाकिस्तान की बैट टीम के लोग काफी प्रशिक्षित होते हैं और इसमें उसकी सेना के कमांडो के अलावा जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैयबा जैसे विभिन्न आतंकी संगठनों से जुड़े आतंकवादी शामिल हैं। बैट ने नागरिकों को भी अपना निशाना बनाना शुरू कर दिया है।
जनवरी के महीने में बैट ने नियंत्रण रेखा के पास पूंछ जिले में एक नागरिक पर हमला कर उसकी हत्या कर दी थी। उसकी पहचान मोहम्मद असलम के तौर पर हुई थी, जिसका सर धर से अलग था और शरीर को कई जगहों से काटा गया था।
एक बीएसएफ के सीनियर अधिकारी ने एएनआई को बताया, ष्पिछले हफ्तों में ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं थी लेकिन कुछ घंटे पहले यह रिपोर्ट मिलने के बाद सुरक्षाबलों को अलर्ट किया गया है, खासकर दो सेक्टरों में। पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई हैं और रात के समय एक्ट्रा तैनाती की जाएगी। पाकिस्तान की तरफ से किसी भी दुस्साहस का मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। सीनियर सरकारी अधिकारी ने बताया, इस मौसम में भारत में घुसपैठक में बैट टीम आतंकियों की मदद करती है। कई जगहों पर आतंकियों को प्रशिक्षण देने के बाद बैट और पाकिस्तान की अन्य एजेंसियों की तरफ से इन्हें सीमा के पास भेजा जाता है। जब घुसपैठ की इनकी कोशिशें विफल हो जाती हैं तो बैट की तरफ से इन आतंकियों के साथ हमला किया जाता है ताकि बर्डर पर इन्हें घुसपैठ कराया जाए। पिछले हफ्ते भारतीय सेना ने जम्मू कश्मीर पुलिस की तरफ से इंटेलिजेंस रिपोर्ट के आधार पर संयुक्त अपरेशन में जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले के भीम्बर गली सेक्टर में एक आतंकी को नियंत्रण रेखा के पास कोरी इलाके में मार गिराया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!