पीएम मोदी बोले, कोरोना के खिलाफ लड़ाई को जन आंदोलन बनाया

Spread the love

नई दिल्ली। पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक परिषद की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि तत्कालीन चुनौतियों के अलावा क्घ्लाइमेट चेंज जैसी लंबी अवधि की चुनौतियां भी हमारी प्राथमिकता में हैं। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अस्थायी सीट पर भारत के निर्वाचन के बाद यह पहली बार है जब पीएम नरेंद्र मोदी संयुक्त राष्ट्र की बैठक में शामिल हुए हैं। भारत सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के तौर पर 2021-22 सत्र के लिए निर्वाचित हुआ है। पीएम मोदी ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र मूल रूप से द्वितीय विश्व युद्घ के उपद्रवों से पैदा हुआ था। आज महामारी के प्रकोप ने इसके पुनर्जन्म और सुधार के नए अवसर प्रदान किए हैं। आइए हम यह मौका न गंवाएं।
पीएम मोदी ने कहा कि जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए हमने अंतरराष्ट्रीय सोलर अलायंस की शुरुआत की है। हमने स्घ्वच्घ्छ भारत अभियान के रूप में सबसे बड़ी स्वच्घ्छता योजना चलाई है। यही नहीं हमने सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल को भी कम किया है।
हमारी सरकार ने सभी नागरिकों को छत मुहैया कराने के लिए हाउसिंग फर अल स्कीम चलाई है जो यह सुनिश्चित करेगी कि साल 2022 तक सभी देशवासियों के पास अपना घर हो। हमने पिछले कुछ वर्षों में सालाना 38 मिलियन टन कार्बन उत्सर्जन में कमी की है।
पीएम मोदी ने कहा कि हमने साल 2025 तक टीबी की पूरी तरह से खत्म करने का लक्ष्य रखा है। विकास के रास्ते पर आगे बढ़ते हुए हम धरा के प्रति अपनी जिम्मेदारियां नहीं भूल रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले साल हमने अपने राष्ट्रपिता की 150वीं जयंती मनाई। इस दौरान भारत के छह हजार गांवों में स्घ्वच्घ्छता के लक्ष्य को पूरा किया गया। हमने हमेशा विश्व शांति और समृद्घि की बात की है। चाहे भूकंप, चक्रवात, इबोला संकट या कोई अन्य प्रातिक या मानव निर्मित संकट हो, भारत ने तेजी और एकजुटता के साथ जवाब दिया है। कोरोना के खिलाफ हमारी संयुक्त लड़ाई में हमने 150 से अधिक देशों में चिकित्सा और अन्य सहायता उपलब्ध कराई है।
भारत में दुनिया की कुल आबादी का छठा हिस्सा रहता है। हमें अपनी जिम्मेदारियां पता हैं। हमें पता है कि यदि हम विकास के लक्ष्यों को पूरा करते हैं तो ग्लोबल लक्ष्यों को पूरा करने में मदद मिलेगी।
पीएम ने कहा, दुनिया की प्रगति में संयुक्त राष्ट्र का बड़ा योगदान है। इस साल हम संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। भारत ने शुरुआत से ही संयुक्त राष्ट्र के विकास कार्यों को समर्थन दिया है। हमारा सिद्घांत सबका साथ सबका विकास और सबका विश्वास है। पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी के बीच हमने आत्घ्मनिर्भर अभियान चलाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!