पॉलीटेक्निक संस्थान जखोली का भवन का 95 फीसद निर्माण कार्य पूरा

Spread the love

रुद्रप्रयाग। राजकीय पॉलीटेक्निक संस्थान जखोली को लंबे अर्से बाद अपना भवन मिलने जा रहा है। भवन का निर्माण कार्य 95 फीसद पूरा होने से अब संस्थान के अध्यनरत छात्रों को पठन पाठन के लिए पर्याप्त स्थान भी मिल सकेगा। संस्थान के नए भवन शिफ्ट होने से जहां छात्रों की दिक्कतें दूर होंगी, वहीं स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिल सकेगा। वर्ष 2008 में क्षेत्रीय की जनता की मांग पर जखोली ब्लाक के लिए राजकीय महिला पॉलीटेक्निक की स्वीकृति मिली थी। शुरूआत में कुछ समय तक कक्षाएं गौचर पॉलीटेक्निक से ही संचालित हुई। क्षेत्रीय ग्रामीणों के काफी विरोध के बाद वर्ष 2014 में इस संस्थान को जखोली शिफ्ट किया गया। इसी समय संस्थान के आगे से महिला शब्द हटाकर राजकीय पॉलीटेक्निक संस्थान का नाम से संचालन की अनुमति मिली। वर्तमान में यह संस्थान जखोली ब्लाक कार्यालय के चार कमरों में संचालित हो रहा है। यहां भवन एवं शिक्षकों के साथ ही कई अन्य संसाधनों का भारी टोटा पिछले लंबे समय से बना हुआ है। पर्याप्त भवन न होने से अध्यनरत छात्रों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। पर्याप्त स्थान न होने से पॉलीटेक्निक संस्थान में मात्र आइटी ट्रेड का ही संचालन होने से अन्य ट्रेडों को स्वीकृति नहीं मिल पा रही थी। वर्तमान में यहां 16 छात्र-छात्राएं पंजीकृत हैं। वर्ष 2017 में संस्थान के कैंपस के लिए ग्रामीणों ने लगभग दो हेक्टेयर भूमि संस्थान को भवन निर्माण हेतु दान दी थी। जिसके बाद भूमि संस्थान के नाम हस्तानान्तरित करने की समस्त औपचारिताएं पूर्ण करने के बाद संस्थान ने भवन निर्माण के लिए आंगणन तैयार कर शासन को भेजा था। शासन से भवन निर्माण के लिए 4.60 करोड़ की बजट को स्वीकृति मिली थी। जिसके बाद निदेशालय की ओर से टेंडर की समस्त औपचारिताएं पूर्ण करने के बाद बिडकुल कंपनी को निर्माण की जिम्मेदारी सौंप दी गई थी। कंपनी की ओर से संस्थान के तिमंजिला भवन का निर्माण कार्य शुरू किया। वर्तमान में कार्यदायी संस्था विडकुल ने तिमंजिला भवन का 95 फीसदी निर्माण कार्य पूरा कर लिया है। जबकि शेष कार्य भी जोरों पर चल रहा है। भवन का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद शीघ्र संस्थान नए भवन में शिफ्ट होगा। जिसके बाद छात्रों के साथ ही संस्थान के स्टाफ की समस्याएं दूर होगी। इसके अलावा यहां स्थानीय लोगों के लिए रोजगार अवसर भी मुहैया हो सकेंगे।
पॉलीटेक्निक संस्थान जखोली का निर्माणाधीन तिमंजिला भवन का निर्माण कार्य लगभग 95 फीसदी तक पूरा हो गया है। भवन निर्माण कार्य जल्दी से जल्दी पूरा कराने के लिए संस्थान की ओर से पूरे प्रयास किए जा रहे है। जिससे संस्थान नए भवन में शिफ्ट हो सके। साथ ही समय-समय पर भवन की मॉनिटरिग भी की जा रही है। -डॉ. वीएस नेगी, प्रधानाचार्य, राजकीय पॉलीटेक्निक संस्थान जखोली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!