सेना में भर्ती के लिए दौड़ ही नहीं अन्य बिन्दुओं पर भी दे ध्यान

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। उत्तराखण्ड के युवाओं की पहली प्राथमिकता सेना में भर्ती होकर देश की सेवा करना होता है। यहां के युवाओं में सेना भर्ती को लेकर खासा उत्साह नजर आ आता है। इसका अंदाजा इससे ही लगाया जाता है कि 20 दिसम्बर 2020 से 2 जनवरी 2021 तक विक्टोरिया क्रॉस गबर सिंह कैंप कौड़िया कोटद्वार में सम्पन्न हुई सेना भर्ती रैली के लिए 46376 युवाओं ने भर्ती रैली के लिए ऑनलाइन पंजीकरण किया था। भर्ती रैली में 39208 अभ्यर्थियों ने प्रतिभाग किया। जिनमें से 37164 अभ्यर्थियों ने दौड़ में प्रतिभाग किया। 6804 अभ्यथी ही दौड़ पास करने में सफल रहे। जबकि 6773 अभ्यथी फिजिकल में पास हुए। ज्यादातर अभ्यर्थी 1600 मीटर दौड़ को पास करना ही भर्ती रैली का अहम हिस्सा समझते है। जबकि सेना भर्ती में दौड़ के अलावा भी बहुत कुछ होता है।
हजारों युवा आर्मी में जाने का सपना लिए, स्टेडियमों और सड़कों के बाहर कड़ी मेहनत करते नजर आते हैं। कोई युवा एक साल से अधिक समय से तैयारी करता है तो कोई सेना भर्ती रैली की तिथि घोषित होने के बाद सेना भर्ती की तैयार शुरू करता है। आर्मी के फॉर्म ऑनलाइन भरने के लिए आपके पास डॉक्यूमेंट होना जरुरी है, जैसे-हाईस्कूल, इंटरमीडिएट प्रमाण पत्र के आधार पर फॉर्म भर सकते है। 10वीं, 12वीं की मार्कशीट का नंबर जो की शिक्षा बोर्ड के द्वारा दिया गया हो। आपके पास अपना मोबाइल नंबर होना चाहिए जिस पर समय-समय पर भर्ती की जानकारी मिलती रहे। ऑनलाइन फॉर्म में अपना पूरा पता, जिला, राज्य, तहसील और ब्लाक का विवरण सही-सही देना आवश्यक है। आर्मी में ऑनलाइन आवेदन के लिए इसकी ऑफिसियल वेबसाइट के माध्यम से पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है।
सेना भर्ती कार्यालय लैंसडौन के भर्ती निदेशक कर्नल विनीत वाजपेयी ने बताया कि रैली का नोटिफिकेशन निकलने के बाद सबसे पहले ऑनलाइन रजिस्टे्रशन करना पड़ता है, दिये हुए समय अवधि में। ज्यादातर युवा यह गलती है कि साइबर कैफे के भरोसे अपने फॉम छोड़ के चले जाते है। जिससे कई बार उनके फॉर्म सही तरीके से नहीं भरे होते है और उनके फॉर्म कैंसिल हो जाते है। जिस कारण वह रैली में भाग नहीं ले पाते है। अपना फॉर्म सही तरीके से भरना अभ्यर्थी की जिम्मेदारी है। भर्ती निदेशक कर्नल विनीत वाजपेयी ने युवाओं को संदेश देते हुए कहा कि आनी वाली भर्ती रैलियों में अभ्यर्थी फॉर्म भरते समय निश्चित कर लें कि उसका फॉर्म सही तरीके से भरा है या नहीं। ऑनलाइन रजिस्टे्रशन के बाद दी हुई समय पर अभ्यर्थी एडमिट कार्ड लेकर रैली स्थल पर आते है। जहां पर सबसे पहले उनकी प्री-हाईट की माप की जाती है। जिनकी हाईट सही पायी जाती है उन्हें अंदर भेजा जाता है। उसके बाद अलग-अलग प्रक्रिया से गुजरकर 1600 मीटर की दौड़ में हिस्सा लेते है, जो अभ्यर्थी दौड़ में पास होते है उनकी सीने, लंबाई, वजन, चिनअप, शैक्षिक प्रमाण पत्र की जांच प्रक्रिया पूरी की जाती है। इसमें जो अभ्यर्थी सफल होते है उनका मेडिकल टेस्ट किया जाता है। मेडिकल टेस्ट में पास होने वाले अभ्यर्थियों की लिखित परीक्षा ली जाती है। जो अभ्यर्थी लिखित परीक्षा पास कर लेते है उन्हें रेजिमेंटल सेंटर में भेजा जाता है। इस तरह से भर्ती की पूरी प्रक्रिया सम्पन्न होती है।
भर्ती निदेशक कर्नल विनीत वाजपेयी ने बताया कि ज्यादातर अभ्यर्थी 1600 मीटर दौड़ को भर्ती रैली का अहम हिस्सा समझते है। जबकि सेना भर्ती में दौड़ के अलावा भी बहुत कुछ होता है। अभ्यर्थी सीने की मसलस आई हाईट के विकास पर भी विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा कि रैली से पूर्व अभ्यर्थियों को बता दिया जाता है कौन-कौन से आवश्यक दस्तावेज लेकर भर्ती रैली स्थल पर पहुंचना है, लेकिन अधिकांश युवा पूरे दस्तावेज लेकर रैली स्थल पर नहीं पहुंचते है। जिस कारण उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि जो भी युवा रैली में भाग लेने का मन बना चुके है उनसे मैं यही अनुरोध करूंगा कि अपने फिजिकल की पूरी जांच करा लें और अपने पूरे-पूरे सभी आवश्यक दस्तावेज लेकर आये। 1600 मीटर दौड़ की विशेष तैयारी करके आये। इससे अभ्यर्थी के रैली में सफल होने के चांस अधिक है। उन्होंने कहा कि भर्ती रैली में अधिकांश युवा सीने और लंबाई की माप में बाहर होते है।

1600 मीटर दौड़ने की तैयारी करें
भारतीय सेना में भर्ती की तैयारी के लिए कई युवा रोज 8 से 10 किलोमीटर दौड़ते है फिर भी 1600 मीटर की दौड़ में पिछड़ जाते है, इसलिए तैयारी के समय ही 1600 मीटर की दौड़ का अभ्यास करें।

लिखित परीक्षा की तैयारी
सामान्य ज्ञान की तैयारी के लिए पिछले वर्षों के पेपर और सैंपल पेपर देखे और अपनी तैयारी करें साथ ही इसके अलावा गणित, सामान्य ज्ञान, सामान्य विज्ञान के प्रश्नों की तैयारी भी करते रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!