सिद्धबली महोत्सव के दूसरे दिन किया एकादश कुंडीय यज्ञ

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। श्री सिद्धबली बाबा वार्षिक अनुष्ठान महोत्सव का दूसरे दिन एकादश कुंडीय यज्ञ और मंदिर परिसर में सुंदरकांड पाठ और भक्ति संगीत का आयोजन किया गया। वेदपाठी आचार्य देवी प्रसाद भट्ट के सानिध्य में विधि विधान से पूजा अर्चना की गई। वार्षिक अनुष्ठान के अंतिम दिन रविवार 6 दिसंबर को सुबह पांच बजे पिंडी महाभिषेक, एकादश कुंडीय यज्ञ सुबह साढ़े सात बजे होगा।
शनिवार को दूसरे दिन सुबह पांच बजे पिंडी महाभिषेक, सुबह साढ़े सात बजे एकादश कुंडीय यज्ञ किया गया। सुबह साढ़े दस बजे से सुंदरकांड पाठ का किया गया। ज्योतिषाचार्य देवी प्रसाद भट्ट के सानिध्य में में वेदपाठियों ने वैदिक मंत्रोचार के बीच मंदिर में पिंडी पूजन और हनुमानजी की मूर्ति का महाभिषेक किया। एकादश कुंडीय यज्ञ में बतौर मुख्य यजमान लैंसडौन विधायक एवं सिद्धबली मंदिर के मंहत दिलीप रावत उनकी धर्मपत्नी नीतू रावत, पूर्व मंत्री सुरेन्द्र्र ंसह नेगी और महापौर श्रीमती हेमलता नेगी ने कलश पूजन के साथ हवन यज्ञ में आहूति अर्पित की। इसके बाद मंदिर परिसर में सुंदरकांड और भक्ति संगीत का आयोजन किया गया। भजन गायक दयाशंकर फुलारा ने दे दो दर्शन सिद्धबली बाबा, तुमसे जोड़ दिया है नाता और गायिका गीता नेगी ने जगत के रंग क्या देखूं तेरा दीदार काफी है आदि भजनों की प्रस्तुति देकर माहौल को भक्तिमय बना दिया। श्री सिद्धबली मंदिर समिति के अध्यक्ष कुंज बिहारी देवरानी ने बताया कि महोत्सव के दौरान कोरोना गाइड लाइन का पूर्णत: पालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि रविवार सुबह दस बजे सिद्धबली बाबा का जागर कार्यक्रम होगा। सुबह 11 बजे सवामन रोट का भोग लगाकर प्रसाद वितरित किया जाएगा। इस मौके पर इस मौके पर महोत्सव के संयोजक अनिल कंसल, मेला समिति के अध्यक्ष जीत सिंह पटवाल, विनोद सिंघल, रमेश चन्द्र रावत, रविन्द्र जजेड़ी, शुभम रावत, सुनील बहुगुणा सहित कई श्रद्धालु मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!