सुशांत सिंह राजपूत केस: एनसीबी को तगड़ा झटका, ड्रग्स मामले में बयानों से पलटे जैद और परिहार

Spread the love

मुंबई , एजेंसी। बलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में ड्रग्स का एंगल सामने आने के बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) द्वारा गिरफ्तार किए गए दो आरोपी-जैद विलात्रा और अब्दुल बासित परिहार अपने बयान से मुकर गए हैं। इन्हीं दोनों के बयानों के आधार पर एनसीबी ने रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक, सुशांत के हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा और डमेस्टिक हेल्पर दीपेश सावंत को गिरफ्तार किया था।
जैद विलात्रा और परिहार ने अर्जी में दावा किया कि एनसीबी अधिकारियों ने उनके बयान जबरदस्ती करके रिकर्ड किए थे। इस समय विलात्रा और परिहार एनसीबी की हिरासत में हैं। ड्रग्स मामले के दोनों आरोपियों को जब मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट कोर्ट के सामने पेश किया गया, तो उन्होंने अपने बयान को स्वीकार करने से मना कर दिया।
विलात्रा को 3 सितंबर को गिरफ्तार करके मजिस्ट्रेट कोर्ट के सामने पेश किया गया था। वहीं, परिहार को एनसीबी की टीम ने चार सितंबर को मजिस्ट्रेट कोर्ट के सामने पेश किया था। विलात्रा और परिहार के वकील तारक सैयद ने कहा, जब उन्हें अदालत में पेश किया गया तो हमने अर्जी दाखिल की। उन्होंने वहां एनसीबी अधिकारियों के सामने दिए गए बयानों को वापस ले लिया, जिसके बाद जमानत मांगी।
उन्होंने कहा, यह एक जमानती अपराध है। साथ ही, इसमें शामिल ड्रग्स की मात्रा बेहद कम है जोकि आरोपी को जमानत का हक देता है। हालांकि, मजिस्ट्रेट कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका को खारिज कर दिया था। वहीं, एनसीबी ने सबसे पहले अब्बास अली लखानी (21) को 28 अगस्त को 46 ग्राम गांजा के साथ गिरफ्तार किया था। लखानी द्वारा दी गई सूचना के आधार पर उसके सप्लायर कर्ण अरोड़ा को 13 ग्राम गांजा के साथ गिरफ्तार किया गया। बाद में दोनों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर एनसीबी ने 3 सितंबर को विलात्रा और परिहार को गिरफ्तार किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!