तेजाब, पेट्रोल और ईंट-पत्थर के साथ पहले ही हो चुकी थी दिल्ली दंगों की तैयारी: चार्जशीट

Spread the love

नई दिल्ली, एजेन्सी। इस साल की शुरुआत में हुए दिल्ली दंगों ने देश भर को हिला दिया था। भीषण हिंसा और आगजनी के 5 महीनों के बाद अब इस जघन्य दंगों की परतें उतरने लगी हैं। दिल्ली दंगों में शामिल आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन और पिंजरा तोड़ ग्रुप की 2 महिला सदस्यों के खिलाफ आज दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की। इन दोनों चार्जशीट में साफ-साफ लिखा है कि कैसे दिल्ली में सत्ताधारी पार्टी के पार्षद (जिसे बाद में पार्टी ने निष्काषित कर दिया था) और पिंजरा तोड़ ग्रुप की महिला सदस्यों नताशा नरवाल और देवांगना कलिता ने दंगों की चिंगारी को भड़काया।
चार्जशीट में कहा गया है कि पिंजरा तोड़ ग्रुप की इन दोनों महिला सदस्यों के देशद्रोह के आरोपी उमर खालिद से भी करीबी रिश्ते हैं। 25 फरवरी 2020 को उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जफराबाद दंगों में हुई फायरिंग में अमन नाम के एक शख्स की मौत हुई थी, मौके से पुलिस को अलग-अलग बोर के 35 कारतूस बरामद हुए थे। इस मामले में पिजरातोड़ ग्रुप की सदस्य नताशा नरवाल और देवांगना कलिता समेत 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। जांच में दंगों के पीछे की गहरी साजिश का जिक्र भी चार्जशीट में किया गया है।
चार्जशीट में साफ लिखा है कि इन दोनों लड़कियों का रिश्ता व्हाट्स एप पर चल रहे एक ग्रुप ‘इंडिया अगेंस्ट हेट’ से भी था। एक आरोपी के मोबाइल से मिली व्हाट्स एप चैट से पता चला था कि दिल्ली दंगों की साजिश पहले से रची जा चुकी थी।
साथ ही, आप पार्षद के खिलाफ खजूरी खास इलाके में हुए दंगे और आम्र्स एक्ट के मामले में दाखिल चार्जशीट में लिखा है कि पार्षद ताहिर हुसैन दंगे का मास्टरमाइंड है जिसमे उसके छोटे भाई शाह आलम का भी मुख्य रोल है। ताहिर ने ऊनी लाइसेंसी पिस्टल दंगों से एक दिन पहले खजूरी खास थाने से रिलीस करवाई थी। ताहिर का कनेक्शन खालिद सैफ़ी और उमर खालिद से भी पाया गया है जिन्होंने दिल्ली दंगों के अहम भूमिका निभाई।
दंगों के दौरान ताहिर हुसैन की छत से कांच की बोतलों की कैरेट बरामद हुई जिनमें कुछ तरल पदार्थ भरा हुआ था और मुँह पर कपड़े बंधे थे। साथ ही भारी मात्रा में ईंट, पत्थर और गुलेल बरामद हुई हैं। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, उत्तर-पूर्वी दिल्ली दंगों की जांच के लिए 3 रकळ गठित की गयीं थी। कुल 59 मामले दर्ज किए गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!