कब थमेगा यह सिलसिला?

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

गुलाम नबी आजाद के समर्थन में जम्मू-कश्मीर में फिर 20 कांग्रेसी छोड़ चले पार्टी
नई दिल्ली, एजेंसी। वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद के बाद कांग्रेस से इस्तीफा देने वालों की मानो झड़ी सी लग गई है। बताया जाता है कि शुक्रवार को आजाद के समर्थन में जम्मू-कश्मीर से 20 और कांग्रेस नेताओं ने इस्तीफा दे दिया। गौरतलब है कि गुलाम नबी आजाद ने अगस्त में कांग्रेस में सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था। अपने इस्तीफे में उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व और राहुल गांधी पर कई सवाल उठाए थे। आजाद का इस्तीफा हालिया समय में कांग्रेस के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है। उनसे पहले हिमाचल प्रदेश में, जहां कि चुनाव होने वाले हैं आनंद शर्मा ने भी अहम पदों से इस्तीफा दे दिया है।
जानकारी के मुताबिक इस्तीफा देने वाले सभी 20 सदस्य जम्मू उत्तरी क्षेत्र की जिला कांग्रेस कमेटी के सदस्य थे। इन सभी ने पार्टी के नेता रजिंदर प्रसाद के साथ इस्तीफा दिया। प्रसाद नौशेरा राजौरी के मास्टर बेली राम शर्मा के लड़के हैं। आजाद की तरह उन्होंने भी अपना इस्तीफा पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखा है। साथ ही उन्होंने भी पार्टी में मंडली सिस्टम पर सवाल उठाया है। प्रसाद ने लिखा है कि आज पार्टी पूरी तरह से जी-हुजूरी करने वालों पैराशूट से यहां पहुंचने वालों से घिर गई है। इसके चलते पार्टी आम जनता की दुख और तकलीफों से दूर होती जा रही है और मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं।
इससे पहले गुरुवार को 36 कांग्रेस नेताओं ने भी आजाद के साथ समर्थन जताते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। इसमें नेशनल स्टूडेंट यूनियन अफ इंडिया के अध्यक्ष भी शामिल थे। उधर 64 वरिष्ठ पार्टी नेता पहले ही कांग्रेस छोड़ चुके हैं। यह आजाद के समर्थन इस्तीफों का एक लंबा सिलसिला माना जा रहा है। गौरतलब है कि गुलाम नबी आजाद ने 26 अगस्त को कांग्रेस के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने राहुल गांधी को अपरिपक्व ठहराते हुए कांग्रेस के अंदरूनी सिस्टम को तबाह करने का आरोप लगाया था।
सोनिया गांधी को लिखे अपने इस्तीफे में आजाद ने उन्हें नाममात्र का अध्यक्ष बताया था। साथ ही लिखा था कि पार्टी के ज्यादातर फैसले राहुल गांधी, बल्कि यह कहें कि उनके सुरक्षा गार्ड और पीए द्वारा लिए जा रहे थे।
रिपोर्ट्स के मुताबिक गुलाम नबी आजाद एक नई राष्ट्रीय पार्टी लांच करने की तैयारी में हैं। बताया जाता है कि आजाद के समर्थन में पार्टी छोड़ने वाले तमाम नेता आने वाले दिनों में आजाद द्वारा लांच की जा रही नई पार्टी से जुड़ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!